क्या सच में पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों की पिटाई की जा रही है जानिए सच

428

सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी चीजें वायरल हो रही है..जो ये दबा कर रही है कि की पुलवामा अटैक के बाद लोग कश्मीरियों और मुस्लिमस के साथ बुरी तरह मार पिट कर रहे है.. और उन्हें परेशान कर रहे है … ट्विटर पर एक यूजर @rimsha_mengal ने भी ऐसा ही विडियो शेयर किया.. विडियो के साथ यूजर ने लिखा, इस विडियो में कश्मीर के मुस्लिमों को हिंदुओं द्वारा पीटा जा रहा है.. विडियो चंडीगढ़ का है.. जिसमे प्रॉपर्टीज को बर्बाद किया गया… भारतीय सेना पर हमले के बाद, भारत में मुस्लिम सुरक्षित नहीं हैं..

पर जब हमने इसके पड़ताल की तो पता चला की जो ट्विटर यूजर ने जो विडियो शेयर किया है वह दिल्ली के जनकपुरी में एक फाइव स्टार होटल में शादी के दौरान खाने क .. लिए हुई छीना झपटी का विडियो है.. यह विडियो बीते हफ्ते वायरल हुआ था.. हमें इससे जुड़ी कई मीडिया रिपोर्ट भी मिली…. रिपोर्ट के मुताबिक, 9 फरवरी को कथित तौर पर शादी में बासी खाना परोसे जाने को लेकर यह मारपीट हुई थी..यहाँ आप ये पूरा वायरल वीडियो देखे.

खून से लथपथ दिख रहे एक ट्रक ड्राइवर का विडियो इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि यह ड्राइवर कश्मीरी है और इसे पुलवामा आतंकी हमले के बाद जम्मू-कश्मीर के उधमपुर पोस्ट पर स्थानीय लोगों ने पीटा है… विडियो के साथ कैप्शन लिखा .. लिखा जा रहा है, उधमपुर अपडेट…कश्मीरी ड्राइवर को डोगरियों  ने पीटा… इस विडियो को 16 फरवरी से बड़े स्तर पर शेयर किया गया है…. इस विडियो के टाइटल में लिखा गया था, ‘Kashmiri driver beaten  by police in Punjab.’ ये विडियो अप्रैल 2018 में अपलोड किया गया .. जिससे यह साफ है कि इसका पुलवामा हमले से कोई लेना-देना नहीं है …ऐसी फेक न्यूज़ बड़ी स्तर पे सिर्फ देश का माहोल ख़राब करने के लिए फैलाई जाती है …

इनके उपर जम्मू और कश्मीर पुलिस के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया .. कुछ अराजक तत्व कश्मीरी उधमपुर में ड्राइवरों/वाहनों पर हमले की अफवाह उड़ा रहे हैं। यह पूरी तरह निराधार और फर्जी है…ऐसी अफवाहों पर ध्यान न दें.. अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कानूनन सख्त कार्रवाई की जाएगी…

तो अब आप समझ ही गये होंगे की फैलाई जाने वाली ये दोनों ख़बरें एक दम फर्जी है …मुस्लिमो या कश्मीरियों के साथ ऐसी कोई भी मार पिट नहीं हो रही है ..जैसी फेक न्यूज़ ये सोशल मीडिया पर उड़ाई जा रही है ..तो जब तक सच्चाई पता न हो या विडियो या इमेज की फेक होने की जरा सी आशंका हो तो उसे फॉरवर्ड या पोस्ट न करे.