विदेश की धरती से उठाया गया, भारत के लोकतंत्र पर सवाल

345

आखिरकार मजाक है क्या जो देश में चल रहा है….तो बता दें की लंदन में एक प्रेंस कॉन्फ्रेंस किया जाता है….और इस दौरान एक अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट दावा करता है की भारत में हुए कई चुनाव में इवीएम हैक किया गया था…अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने 21 जनवरी को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कई सनसनीखेज दावे किए हैं…सैयद शुजा ने भारत के लोकतंत्र पर कई गंभीर आरोप लगाए है….

अब सवाल ये है की भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है…और लोकतंत्र की निष्पक्षता पर सवाल करने वाला युवक आखिरकार है कौन ? शुजा ने दावा किया कि 2014 लोकसभा चुनाव में ईवीएम को हैक किया गया था और उसी के दम पर बीजेपी की बड़ी जीत हुई थी.इतना ही नहीं एक्सपर्ट ने ये भी दावा किया कि 2015 के दिल्ली चुनाव में उसने आम आदमी पार्टी के लिए ईवीएम हैक किया था….इसके साथ ही शुजा का ये भी दावा है कि 2014 में बीजेपी की जीत ईवीएम में घपले की वजह से हुई थी, इसी का राज गोपीनाथ मुंडे को पता था….

सैयद शुजा ने कई दावे तो किए लेकिन वो इसके एक भी सबूत पेश नहीं कर पाए….सैयद शुजा ने इस दौरान अपना चेहरा ढका हुआ था…वो अपना नाम तो बताना चाहता था लेकिन अपना चेहरा छुपाया हुआ था ….ऐसा वो क्यू कर रहा है ये भी सवाल अहम है…हालांकि, चुनाव आयोग ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में किए गए सभी दावों को खारिज किया और ईवीएम को बिल्कुल सुरक्षित बताया है….

विपक्ष लगातार इवीएम पर सवाल खड़े करते रहते है…लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक कॉन्फ्रेस होता है और इसमें सबसे बड़ी कड़ी ये है की इस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल भी मौजूद रहते है…कपिल सिब्बल जी आपके लिए एक सलाह है की वाकई वो अगर एक हैकर है तो आप उसके साथ प्रेंस कॉन्फ्रेंस ना करिए बल्कि उसको 2019 के लोकसभा चुनाव का ठेका दे दिजीए…शायद आपका भी कुछ भला हो जाए….

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस प्रेंस कॉन्फ्रेंस को कांग्रेस प्रायोजित बताया । रविशंकर प्रसाद ने कहा- कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल वहां पार्टी की ओर से पूरे कार्यक्रम की मॉनिटरिंग करने गए थे। वहीं रविशंकर प्रसाद ने सैयद शुजा के बारे में कहा- “सैयद शुजा का नाम मैंने कभी नहीं सुना है। लंदन में कार्यक्रम को लेकर कहा गया था कि वह लंदन में ईवीएम को हैक करके दिखाएंगे। यह नाटक मुझे समझ नहीं आया है। वह विदेश की धरती से भारत के लोकतंत्र को बदनाम करने के लिए ये सब बकवास कर रहे हैं।