CAA के मुद्दे पर यूरोपियन ने दिया पा’किस्तान को झ’टका ने दिया, भारत को मिली सफलता

963

CAA के वि’रोध में देशभर में लगातार प्र’दर्शन हो रहा हैं. जिसकी वजह से कई जगहों पर हिं’सक प्र’दर्शन देखने को मिला. वही CAA और NRC के पक्ष में भी लोग साथ में आ रहे हैं. बता दें CAA के खि’लाफ लगातार हो रहे प्र’दर्शन के कारण यूरोपीय संसद में CAA को लेकर मा’मला चल रहा हैं. जिसमे. यूरोपीय संसद ने CAA पर होने वाली वोटिंग को मार्च तक टाल दिया हैं. जिसके बाद से इसे भारत के लिए बड़ी राहत की बात माना जा रहा हैं. लेकिन इस मा’मले पर चर्चा आज होगी. इस मा’मले पर पांच प्रभावशाली राजनीतिक समूह के द्वारा प्रस्ताव को पेश किया जायेगा और वोटिंग की प्रकिया मार्च में होगी.

इस प्रकिया में 751 लोगों के समूह में सेंटर राईट में वा’म’पं’थी लोगों के 500 से अधिक सदस्य शामिल थे और जब ये प्रस्ताव पेश किया गया था. तब 483 प्रतिनिधि थे जिसमे से 199 लोगों ने CAA के खि’लाफ वोटिंग की. जबकि इस वोटिंग के समय 13 लोग अनुपस्थित थे. बता दें कुछ समय से CAA के खि’लाफ देशभर में जोर शोर से वि’रोध प्र’दर्शन किया जा रहा था जिसकी वजह से देश में त’नाव का माहौल बना हुआ हैं.

वही अधिकारिक जानकारों से सुचना मिलने पर पता चला हैं कि भारत ने ब्रसल्ज पर राजनीतिक तौर पर हिस्सा लेना शुरू कर दिया. जिसका परिणामस्वरूप CAA पर वोटिंग का फै’सला मार्च तक टलना जीत हैं. इसी लिए भारत की इस वैश्विक तौर पर कूटनीतिक जीत माना जा रहा हैं. बता दें वोटिंग को टालने का फै’सला मिशल गैहलर ने दिया जिसके बाद से भारत के पास अब मौका है कि वो CAA को अपनी  कूटनीतिक रणनीति के साथ अच्छे से सभी को समझा सकता हैं. बता दें यूरोपीय संसद के सदस्य पीपल्स पार्टी के हैं. पीपल पार्टी इस समय यूरोपीय संसद में सबसे बड़ी पार्टी हैं.