बिहार चुनाव में चुनाव आयोग ने वर्चुअल के साथ-साथ एक्चुअल रैली की भी दी इजाज़त, कोरोना से मौ’त होने पर मिलेगा इतना मुआवजा

64

बिहार चुनाव का बिगुल बच चुका है. पार्टियों नें अपने अपने बिसाब से चुनाव प्रचार भी शूरु कर दिया है. चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद से ही नेताओं के दल बदलने का भी दौर शूरु हो गया है. बिहार चुनाव को लेकर पहले चरण की अधिसूचना जारी कर दी गई है. पहले चरण का चुनाव 28 अक्टूबर को होना है.  बिहार चुनाव को देखते हुए चुनाव आयोग की टीम बिहार के दौरे पर है.

बिहार चुनाव को कोरोना का’ल में करवाया जा रहा है. जिसको देखते हुए काफी कड़े बन्दो’ब’श करना होगा. जिसका जा’य’ज़ा अभी भी लिया जा रहा है. इस बीच मुख्या चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ‘निर्वाचन आयोग राज्य में सु’र’क्षि’त, नि’ष्प’क्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिये क’टि’ब’द्ध है. मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि राज्य सरकार ने अ’धि’सू’च’ना जारी कर दी है कि निर्वाचनकर्मियों की कोरोना से मौ’त होने पर 30 लाख रुपये मुआवजा राशि का भुगतान किया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि इस चुनाव में सिर्फ वर्चुअल चुनाव प्रचार ही नहीं, बल्कि एक्चुअल चुनावी सभाएं भी होंगी. आयोग ने जनसभा व रैलियों को लेकर सभी जिलों के जिलाधिकारी से उपलब्ध हॉल व ग्राउंड की सूची तैयार करायी है’.

दूसरी तरफ जो भी ग्राउंड की सूची तैयार की गई है उसमे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए गोले भी बनाये गए हैं. जिससे लोग जनसभा में आये तो दूर दूर खड़े हो सकें. चुनाव आयोग ने आगे कहा कि ‘इस बार सोशल मीडिया में भ्रा’म’क प्राचर करने को लेकर भी कड़ी का’र्या’वा’ई की जायेगी. उसने कहा कि सोशल मीडिया से धा’र्मि’क और जातीय भावनाओं को भ’ड़’का’या गया तो बर्दा’श्त नहीं किया जाएगा और IT और IPC एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी.