केजरीवाल को दिल्ली चुनाव से पहले चुनाव आयोग की लताड़

923

दिल्ली के मुख्यामंत्री अरविन्द केजरीवाल को कारण बताओ नोटिस दिया गया है. ये नोटिस उनको उनके ही ट्वीट जिसमे उन्होने विपक्ष पर निशाना साधाने के लिए ‘हिन्दू-मुस्लिम’ वाला वfडियो पोस्ट किया था. जिसका वजहसे  केजरीवाल को शुक्रवार के दिन कारण बताओ नोटिस भेजा है.’आयोग ने अपने नोटिस में कहा है कि पहली नजर में यह सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने वाला लग रहा है.’ आयोग ने केजरीवाल को जवाब देने के लिए शनिवार शाम 5 बजे तक का वक्त दिया है.’

जो विडियो पोस्ट किया गया  था. उसमे में यह दिखाया गया है कि दूसरे दल और मीडिया कथित तौर पर ‘हिंदू-मुस्लिम’, ‘सीएए’ और ‘मंदिर-मस्जिद’ की बात कर रहे हैं. लेकिन केजरीवाल विकास, स्कूल और महिला सुरक्षा की बात कर रहे हैं. आयोग ने अपने नोटिस में कहा है कि ‘ये जातिगत या सांप्रदायिक भावनाओं के सहारे वोट लेने की कोशिश है जो आचार संहिता व जनप्रतिनिधित्व कानून का उल्लंघन है.’

अगर बात करें केजरीवाल की तो उनको चुनाव आयोग पहले भी फटकार लगा चुका है. दरअसल, दिल्ली में चुनाव की तारीख की घोषणा होने के बाद उन्होंने वकीलों के एक कार्यक्रम में कहा था कि अगर उन्हें जमीन मुहैया कराई जाए, तो दिल्ली की सभी अदालतों और बार दफ्तरों में मोहल्ला क्लीनिक खोलेंगे. जिसका वजह से उनको फटकार लगाई गई थी, और ये सब अरविन्द केजरीवाल सिर्फ दिल्ली का चुनाव साधने के लिए ये सारे पैंतरे अपना रहे हैं. जिलका खामियाजा अक्सर भुगतना पड़ता है. अब चुनाल आयोग क्या कार्यवाई करता है या क्या एक्शन लेगा केजरीवाल को लेकर.