मोदी की ख्वाहिश को पूरा कर रहा है यह मु’स्लिम देश

1257

मु’स्लिम आबादी वाले देश अबु धाबी में पहला हिन्दू मंदिर बनना शुरू हो गया हैं. बता दें मंदिर निर्माण को लेकर पहला पड़ाव पार कर लिया गया हैं. मंदिर की नीव को भर दिया गया हैं. दरअसल अबु धाबी पहला ऐसा देश हैं जिसमें हिन्दू मंदिर को बनाया जा रहा हैं. वही अबु धाबी में हिन्दू मंदिर बनने को लेकर इससे दोनों देशों के रिश्ते मजबूत होंगे. इसके अलावा मंदिर के निर्माण को ईको फ्रेंडली के तरीके से बनाने पर भी जोर दिया जा रहा हैं.

बता दें पीएम नरेन्द्र मोदी ने 2018 में अपने दुबई दौरे पर वहां के ओपेरा हाउस से एक विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा बोचासनवासी अक्षर पुरुषोत्‍तम स्वामीनारायण मंदिर की आधारशिला को रखा था. जिसके बाद से मंदिर के निर्माण का कार्य चालू किया गया था. इस दौरान कहा मौजूद लोगों ने प्रार्थना भी की जिसके बाद नीव के भरने का कार्य शुरू किया गया. मंदिर की नीव को फ्लाई ऐश कंकरीट से भरा गया हैं और इस नीव में 3000 घन मीटर कंकरीट को भरा जा चुका है.

गौरतलब हैं अबु धाबी पहला ऐसा मु’स्लिम देश हैं जहाँ हिन्दू मंदिर का निर्माण किया जा रहा हैं. इससे दोनों देशों के रिश्तों में भी मजबूती आएगी. वहीं अब अबु धाबी में काम करे वाले हिन्दू भी इस मंदिर में जाकर पूजा अर्चना कर सकेंगे. मंदिर के निर्माण के बाद से अबु धाबी को पर्यटन क्षेत्र में भी लाभ मिलेगा.

बता दें मंदिर की नीव के निर्माण के दौरान भारत के राजदूत पवन कपूर, कॉन्सुलर जनरल विपुल, सामुदायिक विकास प्राधिकरण के सीईओ उमर अल मुथन्ना और शापूरजी पलोंजी के सीईओ मोहनदास सैनी मौजूद दे.इसी  दौरान पूज्य ब्रह्मविहारी स्वामी भी मौजूद रहे और उन्होंने कहा कि आज हमने मंदिर की अनोखी नींव भरने का कार्य शुरू किया जिसका निर्माण पुरानी तकनीक के साथ आधुनिक उपकरणों से किया गया है.

मंदिर का निर्माण इसी साल के अंत तक पूरा कर लिया जायेगा और उसके कुछ हिस्सों को श्र’द्धालुओं के लिए खोल भी दिया जायेगा और बाकी के बचे हिस्सों को 2022 तक निर्माण पूरा करके खोल दिया जायेगा.