लॉकडाउन में दूरदर्शन बना नंबर वन चैनल, रामायण और महाभारत की वजह से बाकी चैनल हो गए फिसड्डी

1712

लॉकडाउन की वजह से मुंबई में सभी टीवी सीरियलों और फिल्मों की शूटिंग बंद है. ऐसे में जब टीवी चैनलों पर सीरियलों का प्रसारण रुक गया तो दूरदर्शन ने लोगों के मनोरंजन के लिए पुराने टीवी सीरियल फिर से दिखाने शुरू किये. ये वो सीरियल हैं जिन्होंने हमारा बचपन गुलजार किया. रामायण, महाभारत, शक्तिमान, व्योमकेश बक्शी, चाणक्य जैसे सीरियलों का प्रसारण दोबारा शुरू हुआ. दूरदर्शन को भी अंदाजा नहीं रहा होगा कि लॉकडाउन के दौरान वो लोगों की पहली पसंद बन जाएगा.

रामायण और महाभारत ने तो लोकप्रियता के सारे पुराने रिकार्ड्स तोड़ डाले. बार्क की रिपोर्ट के मुताबिक मार्च के आखिरी हफ्ते से लेकर अप्रैल के पहले हफ्ते (28 मार्च से 3 अप्रैल तक) के बीच दूरदर्शन सबसे अधिक देखा जानेवाले चैनल बन चुका है. 12 वें हफ्ते में दूरदर्शन की व्यूअरशिप 700 मिलियन हो गई. BARC की रिपोर्ट में बताया गया है कि दूरदर्शन ने इन शोज़ की बदौलत काफी लंबी छलांग मारी है और सुबह-शाम की व्यूअरशिप में 40,000% का इजाफा हुआ है.

दूरदर्शन पर इन दिनों जो सीरियल फिर से प्रसारित किये जा रहे हैं वो उस दौर के हैं जब दर्शकों के पास चैनल के नाम पर सिर्फ दूरदर्शन हुआ करता था. उस वक़्त न तो सैटेलाईट चैनल थे और न हर घर में रंगीन टीवी. BARC की इस रिपोर्ट में सबसे लोकप्रिय सीरियलों के पायदान पर ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ है. चाणक्य, शक्तिमान, बुनियाद और देख भाई देख भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. लॉकडाउन दूरदर्शन के लिए वरदान बन कर आया है.