दंगाई व्हाईट हाउस के बाहर कर रहे थे प’त्थर’बाजी, ट्रम्प को बचने के लिए अंडरग्राउंड बंकर में जाना पड़ा

1197

अमेरिका के 25 शहरों में पिछले एक हफ्ते से जारी हिं’सात्मक प्रदर्शन ने और रौद्र रूप ले लिया है. पुलिस कस्टडी में एक अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लायड की मौ’त के बाद भड़की हिं’सा ने अमेरिका के 25 शहरों को अपनी चपेट में लिया. हर तरफ आ’गज’नी और लू’ट मची हुई है. 25 शहरों में कर्फ्यू लगा हुआ है. न्यूयॉर्क, लॉस एंजल्स, कैलिफोर्निया और वाशिंगटन में हालात ख़राब है. वाशिंगटन में दं’गाई व्हाइट हाउस तक पहुँच गए. व्हाइट हाउस के बाहर दं’गाई प’त्थरबा’जी कर रहे थे. तो सुरक्षा अधिकारीयों ने ट्रम्प की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें व्हाइट हाउस में बने बंकर में ले गए. ट्रम्प करीब एक घंटे तक बंकर में रहे. दुनिया भर के कई अखबारों में इसे ‘ट्रम्प भाग कर बंकर में छुपे’ जैसे हैडलाइन के साथ छापा गया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति के आधिकारिक आवास व्हाइट हाउस में आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए एक बंकर बना हुआ है. आ’तंकी ह’मला, प’रमा’णु ह’मले की स्थिति में राष्ट्रपति को सुरक्षित रखने के लिए इस बंकर का निर्माण किया गया है. लेकिन दं’गाइ’यों से बचने के लिए सबसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति का बंकर में चले जाने की घटना को चुनावी साल में विपक्ष में मुद्दा बना लिया है. दं’गाई गेट तक आ गए थे और बो’तलें, प’त्थर फेंकने लगे थे. आशंका होने लगी कि कहीं व गेट तोड़ कर अन्दर न आ जाएँ. उन्हें काबू करने में सुरक्षाकर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी. इसी दौरान सीक्रेट सर्विस ने ट्रम्प को बंकर में ले जाने का फैसला किया.

हालात बिगड़ते देख वाशिंगटन में कर्फ्यू लगा दिया गया. प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए. मिन्नेसेटा और जोर्जिया राज्य में इमरजेंसी लागू कर दिया गया है. लोगों की मांग है कि जॉर्ज की ह’त्या के आरोप में पुलिसकर्मियों पर ह’त्या का मुकदमा चलना चाहिए. कुल मिला कर पहले से ही कोरोना से त्रस्त अमेरिका इस वक़्त नयी परेशानी से जूझ रहा है.