डोनाल्ड ट्रंप का कोरोना वायरस को लेकर बड़ा दावा, US के हाथ लगे वुहान से वायरस निकलने के सबूत

कोरोना का कहर लगातार हर दिन अब भी बढ़ता जा रहा है. केस कम होने के सारे दावे झूठे होते जा रहे हैं. भारत में पिछले 24 घंटे में 2 हजार नए केस सामने आये हैं. जिसने सरकार की नींद उड़ा दी है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के प्रयास के बाद भी हालात हर दिन बिगड़ ही रहे हैं. ऐसी स्थिति में कोरोना भारत सरकार के लिए बहुत बड़ी चुनौती बन गया है.

जानकारी के लिए बता दें चीन के वुहान शहर से फैले इस वायरस ने दुनियाभर में तबाही मचा दी है. अमेरिका में तो कोरोना के 10 लाख से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं. जिसके चलते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की हवा निकल गयी है और वो लगातार चीन पर इस वायरस को फ़ैलाने का दावा कर रहे हैं. ट्रंप ने अभी हाल ही में कुछ दिन पहले कहा था कि अमेरिका की कई ख़ुफ़िया एजेंसी इस वायरस को लेकर जाँच कर रही हैं.

ट्रंप ने कहा था कि अगर चीन ने ये वायरस जानबूझकर फैलाया है तो फिर वो इसकी कार्रवाई के लिए भी तैयार रहे. वहीँ इसी बीच अब एक बड़ी खबर आ रही है जिसके बाद चीन की नींद उड़ जाएगी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पूछा गया कि क्या उन्होंने कुछ ऐसा देखा है जो उन्हें ये विश्वास दिलाता है कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टिट्यूट ऑफ़ वायरोलोजी से ही निकला है? इसके जवाब में ट्रंप ने कहा है कि हाँ मेरे पास है. इसपर पत्रकारों ने पूछा क्या है ? तो उन्होंने कहा जो भी मैं आपको बता नहीं सकता. उन्होंने दावा करते हुए कहा है कि चीन से वुहान से निकले वायरस को लेकर उनके पास सबूत है.

गौरतलब है कि ट्रंप ने कहा है कि चीन उन्हें चुनाव हराना चाहता है इसीलिए उसने ऐसा किया है. दरअसल इस साल अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं. उन्होंने कहा है कि नवंबर में होने वाले चुनाब में हराने के लिए यह घटिया हरकत की है गयी है. वहीँ ट्रंप ने WHO पर भी निशाना साधा और कहा कि अमेरिका WHO को औसतन 40-50 करोड़ डॉलर की सहायता देता है और चीन महज 3.8 करोड़ डॉलर की सहायता देता है इसके बावजूद भी WHO चीन के लिए काम करता नजर आता है. इन स्थितियों के देखते हुए यही कयास लगाये जा रहे हैं कि आने वाले समय में अमेरिका और चीन आमने-सामने आ सकते हैं.