उत्तरप्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान पर सरकार का शिकंजा कसता ही जा रहा है. एक के बाद एक बड़े झटके योगी सरकार ने आजम खान को दिए हैं. आजम खान इस समय यूपी से सांसद हैं, रामपुर के डीएम ने 26 किसानों को आजम खान के जौहर विश्वविद्यालय से जमीन को कब्ज़ा मुक्त करवाकर किसानों को सौंप दी है. आजम खान पर किसानों की जमीन पर कब्ज़ा करने का केस चल रहा था जिसे डीएम ने मुक्त करवा दिया है.

जानकारी के लिए बता दें रामपुर के अलियागंज के 26 किसानों की जमीन जब वापस मिल गयी तो उन्होंने जिलाधिकारी को लेकर बड़ा फैसला किया. जमीन वापस मिलने पर 26 किसानों ने रामपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह से मिलकर उनका धन्यवाद किया और पगड़ी पहनाकर उनका सम्मान किया. इस सम्मान के बाद रामपुर के डीएम आंजनेय कुमार ने कहा कि किसानों के पास उनकी जमीन के पूरे कागज थे, जिसके चलते किसनों को उनकी जमीन का हक़ दिया गया है.

डीएम आंजनेय कुमार ने कहा है कि अभी और भी किसान अपनी शिकायत लेकर आ रहे हैं जिनको संज्ञान में लेकर आगे भी उचित कार्रवाई की जाएगी. डीएम आंजनेय कुमार को समानित करने के दौरान किसानों की आवाज उठाने वाले पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हाफिज अब्दुस सलाम और फैसल लाला भी मौजूद रहे.

दरअसल अजीमनगर थाना क्षेत्र के अलियागंज के 26 किसानों ने आजम खान पर आरोप लगाते हुए शिकायत की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि जौहर विश्वविद्यालय के अंतर्गत किसानों की जमीन पर कब्जा जमा रखा है. किसानों की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए इस मामले में गाटा संख्या के आधार पर जाँच करने के आदेश दे दिए थे. जिसके बाद आजम खान और पूर्व सीओ आले हसन के खिलाफ मुकदमे दर्ज किये गये थे. अब पुलिस उनकी विवेचना कर किसानों को उनकी जमीन वापस दिला रही है.