NRC को लेकर नीतीश कुमार ने किया बड़ा ऐलान , केन्द्र सरकार को दिया झटका

1430

मोदी सरकार और बिहार गठबंधन में उनके साथी जेडीयू दोनो के बीच चल क्या रहा है, इसका पता लगा पाना मुश्किल है. क्योंकि जेडीयू कभी सीएए का समर्थन करती है, तो कभी विरोध. जेडीयू को खुद नही पता कि करना क्या है. CAA और NRC को लेकर बिहार विधानसभा में नीतीश कुमार ने बड़ा बयान दिया है जिसके चलते मोदी सरकार को तगड़ा झटका लगा है. नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर आज विपक्ष ने पटना में विधानसभा के बाहर जमकर प्रदर्शन किया. इस बीच विधानसभा में “सीएम नीतीश कुमार ने एक बार फिर ऐलान किया है कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगी. नीतीश ने कहा कि एनआरसी का मुद्दा सिर्फ असम के परिप्रेक्ष्य में है जिसको खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्पष्ट कर चुके हैं.”

गौरतलब है कि इस समय नागरिकता कानून को लेकर जेडीयू में ही दो फाड़ की स्थिति बनी है. यह स्थिति तब बनी जब पार्टी लाइन से हटकर उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने विरोध किया और सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की तारीफ की. इसके बाद से कई तरह की सियासी अटकलें भी लगाई जा रही हैं. लेकिन अब नीतीश कुमार ने खुद ये ऐलान कर दिया है कि बिहार में एनआऱसी और सीएए लागू नही होगा.

हालांकि, कई बार पहले भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यह कहते रहे हैं कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा. एक बार आज फिर उन्होंने विधानसभा में अपनी यह बात दोहराते हुए कहा है कि बिहार में एनआरसी लागू नही होगी. सीएम ने आगे कहा कि बिहार में एनआरसी लागू होने का कोई सवाल ही नहीं है यह मुद्दा सिर्फ असम से जुड़ा है. पीएम नरेंद्र मोदी भी इस बारे में स्पष्ट कर चुके हैं.

इससे यही कयास लगाये जा रहें हैं कि क्या नीतीश और मोदी के रिश्तों में फिर से खटास आ गई है.क्योकि बिहार मे जेडीयू और बीजेपी के बीच खटास 2019 के लोकसभा चुनाव से लेकर चल रही है. शायद यही कारण है कि नीतीश कुमार ने खुले तौर पर मोदी का विरोध किया है.