वि’पक्ष पर योगी आदित्यनाथ का करा’रा प्र’हार बोले ‘राम भक्तों पर गो’ली चलाने वाले…’

1460

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा है. अखिलेश यादव ने कुछ दिन पहले योगी सरकार पर आ’रोप लगया था कि हमको जा’न से मा’रने की धम’की मिली है. योगी आदित्यनाथ विधानसभा में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के भाषण के बाद.जब बोलने की बारी आई तो उन्होने वि’पक्ष पर जमकर हम’ला बोला है.

योगी आदित्यनाथ ने वि’पक्ष पर निशा’ना साधते हुए कहा कि जिन ‘लोगों ने राम भक्तों पर गो’लियां चल’वाईं, वे हमसे जवाब मांग रहे हैं. ये सुनकर आश्चर्य होता है. योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि  उत्तर प्रदेश में जिन लोगों ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के वि’रोध में धर’ना प्रदर्श’न के दौरान उप’द्रव या तो’ड़ फो’ड़, आ’गज”नी की थी या फिर सरकार की संपत्ति को नुक’सान पहुँचाया है. उनके ऊपर क’ठोर से क’ठोर कार्य’वाई की जाएगी. उससे कोई भी उप’द्रवी बच नहीं पायेगा.

योगी आदित्यनाथ ने वि’पक्ष पर निशा’ना साधते हुए कहा, ‘जो लोग संविधान की दुहाई देते हैं. वही लोग या उन्ही लोगो की पार्टी के लोग संविधान को तार-तार करने का काम अक्सर करते रहते है, और ठीकरा हमारी सरकार पर फो’ड़ते है. योगी ने आगे कहा कि विधानसभा स्पीकर पर कागज के गो’ले फेंके जाते हैं, तो इस पर वो अपनी बहादुरी समझते है.’ योगी ने आगे और भी कहा, ‘जिन्होंने इसी सदन में विधायकों को चो’टिल किया था. उन लोगो को किसी तरह की श’र्म लिहा’ज़ नहीं रह गई है. वे लोग विधायकों के सम्मान की बात करते हैं. जिन लोगों ने तंदूर जैसी घट’नाओं को अंजा’म दिया था वह महिला सशक्तीकरण की दुहाई देते हैं.

दरअसल योगी कल अपने फॉर्म में थे और उनके निशा’ने पर थे अखिलेश यादव और उनकी पार्टी. जिसपर योगी आदित्यनाथ ने अपनी बातों में आगे कहा, ‘प्रदेश की बालिकाओं पर जब निर्म’म कृ’त्य हुए थे. उस वक़्त सपा के पूर्व अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने कहा था की ‘बच्चों से गलती हो जाती है.’ जो लोग ऐसी बया’नबजी करते है. वो लोग महिला सुरक्षा की बात कर रहे हैं. उनको खुद अपने गिरे’बान में झांक कर देखना चाहिए. योगी ने अपने भाषाण में आगे कहा कि जिन लोगों ने ‘अयोध्या में राम भक्तों पर गो’ली चलाई थी’ उसी दिन से सपा ने अपनी नियत को साफ़ कर दिया था और आज वे लोग उप’द्रवि’यों पर होने वाली कार्र’वाई पर हमारी सरकार से जवाब-तलब कर रहे हैं.

सदन में योगी आदित्यनाथ ने तुलसीदास की चौपाई सुनाते हुए रामराज्य की परिभाषा बताई. उन्होंने रामराज्य की परिभाषा स्पष्ट करते हुए आगे ये चौपाई सुनाई दैहिक दैविक भौतिक तापा। राम राज नहिं काहुहि ब्यापा॥ सब नर करहिं परस्पर प्रीती। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीती।

उसके बाद योगी आदित्यनाथ ने आगे चौपाई का अर्थ बताते हुए कहा, ‘हर प्रकार के दैविक, दैहिक और भौतिक दु’खों से सवर्था मुक्ति का उपाय किसी भी लोककल्या’णकारी शासन का दायित्व बनता है. हमने इसी को धर्म से जोड़ा है. किसी की उपासना से नहीं. इस चौपाई के माध्यम से भी योगी ने अखिलेश पर निशा’ना साधा है. आज अखिलेश ने यूपी के बजट को लेकर भी योगी सरकार पर तं’ज कसा था. योगी ने उन सारी बातों को लेकर अखिलेश यादव को आईना दिखाया है और कहा कि अपने कार्याकाल को याद कर लें कि उनके समय में प्रदेश का क्या हाल था और अब यूपी तरक्की की ओर बढ़ रहा है.