प्रशांत किशोर पर जेडीयू का पलटवार, कहा ‘उनकी दिमागी हालात ठीक नहीं’

632

अभी कुछ देर पहले जेडीयू के पूर्व उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने नितीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. पीके ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस कर के नितीश और उनकी विचारधार के साथ साथ पार्टी पर भी तंज कसे थे. उन्होंने कहा था की नितीश ने सत्ता के लिए बीजेपी के आगे झुक गए है. बिहार के मुख्यमंत्री होते हुए भी उन्होंने बिझार की हालात को जस का तस बना रखा है. उसमे किसी प्रकार का कोई सुधार नहीं आया है.

 पीके के बयान के बाद बिहार की जेडीयू सरकार और मुख्यमंत्री  नितीश कुमार की आलोचना करने पर जेडीयू के पूर्व उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पार्टी के निशाने पर आ गए हैं. जेडीयू ने प्रशांत किशोर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. जेडीयू के प्रवक्ता ‘अजय आलोक ने प्रशांत किशोर को मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया है.’ वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा कि ‘प्रशांत किशोर राजनीतिक कार्यकर्ता नहीं हैं इसलिए उनके बयान को गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है.

जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक अपने दूसरे बयान में  प्रशांत किशोर पर पलटवार करते हुए कहा, ‘जब आदमी मानसिक रूप से विक्षिप्त हो जाता है, तो फिर इसी तरह की बात करना शुरू कर देता है. ‘एक तरफ वह कहते हैं कि नीतीश कुमार उनके पिता समान हैं और दूसरी ओर उसी व्यक्ति की कमियां बता रहे हैं’. जो कि सत्य नहीं है.’ अजय आलोक ने आगे कहा कि प्रशांत किशोर ममता बनर्जी को क्यों नहीं सिखाते हैं कि बंगाल किस मुहाने पर खड़ा है.’ वहीं जेडीयू पार्टी का पक्ष रखने वाले और वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने कहा ‘मुझे बहुत खुशी होगी कि वह नीतीश के मुकाबले एक राजनीतिक पार्टी बनाएं और बिहारियों को संगठित करें.

बिहार की राजनीति में एक नया अध्या जुड़ता हुआ दिख रहा है. जेडीयू से निष्काषित हुए प्रशांत किशोर क्या नै पार्टी बना कर बिहार में नितीश कुमार को विधानसभा चुनाव में टक्कर डे पाएंगे या फिर किसी दूसरी पार्टी के साथ हाँथ मिलाकर उस पार्टी की नैया को पार लगायेंगे. ये देखन दिचास्प होगा.