क्या सच में कांग्रेस में शामिल हो गये हैं सर्जिकल स्ट्राइक के कमांडिंग ऑफिसर रहे लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा?

क्या सच में कांग्रेस में शामिल हो गये हैं सर्जिकल स्ट्राइक के कमांडिंग ऑफिसर रहे लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा?
राहुल गांधी से मुलाक़ात वाली वायरल तस्वीर के पीछे आखिर क्या है सच्चाई!
सर्जिकल स्ट्राइक करने के बाद सेना की जमकर तारीफ हुई थी. सेना के जवानों की तारीफ हर कोई कर रहा था. सर्जिकल स्ट्राइक के अगुवा और सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त नॉर्दन कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ थे जनरल डीएस हुड्डा! अब ऐसी खबरे सोशल मीडिया पर कुछ बड़े पत्रकारों और विपक्ष द्वारा फैलाई जा रही हैं कि जनरल हुड्डा अब कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गये हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ उनकी तस्वीर भी खूब वायरल हो रही हैं लेकिन क्या सच में जनरल हुड्डा कांग्रेस में शामिल हो गये हैं..
कांग्रेस पार्टी द्वारा गुरुवार को किए गए ट्वीट में जानकारी दी गई कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुडा से मुलाकात की। यह मुलाकात राष्ट्रीय सुरक्षा पर एक टास्क फोर्स के गठन को लेकर की गई। यह टास्क फोर्स देश के लिए विजन पेपर तैयार करेगी। हुडा चयनित किए गए विशेषज्ञों के साथ मिलकर इस टास्क फोर्स का नेतृत्व करेंगे।
यह खबर सोशल मीडिया पर सामने आते ही सियासी अटकलों का बाजार गर्म हो गया कि जनरल हुड्डा कांग्रेस में शामिल हो गये हैं. हालाँकि जब इस खबर की पड़ताल की गयी तो ANI का एक ट्वीट मिला जिसमें हुड्डा का जवाब इन सारी अटकलों पर विराम लगा देने वाला था. जनरल हुडा ने कहा कि “मैं कांग्रेस पार्टी में शामिल नहीं हुआ हूं। कांग्रेस ने जनरल हुड्डा को राष्ट्रीय सुरक्षा पर विजन डॉक्यूमेंट तैयार करने को कहा है।
हालाँकि विपक्षी दल कांग्रेस ने एक बयान जारी कर कहा था, “कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर विजन डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन कर रही है।” बयान में यह भी कहा गया कि लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हु़ड्डा इस टास्क फोर्स के प्रमुख होंगे और चुनिंदा विशेषज्ञों के साथ मिलकर दस्तावेज तैयार करेंगे।

हालाँकि जहाँ एक तरफ दावा किया जा रहा था कि डीएस हुडा कांग्रेस में शामिल हो गये हैं और कांग्रेस के लिए विजन डाक्यूमेंट तैयार करेंगे वहीं लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कहा है कि ‘फिलहाल मेरा काम टास्क फोर्स जॉइन करना है. इस टीम में अलग-अलग क्षेत्रों के कई विशेषज्ञ होंगे. मिलिट्री, डिप्लोमेसी और पुलिस बल से जुड़े लोग इसमें शामिल होंगे. सबकी कोशिश होगी देश में सुरक्षा के मुद्दे पर एक खास रणनीति बनाने की. फिलहाल चुनौती यही है कि टास्क फोर्स के लिए कैसे कोई रणनीति बनाई जाए. हमारा ध्यान इस पर है कि सुरक्षा और डिप्लोमेसी के मुद्दे पर टास्क फोर्स अगले पांच साल के लिए कैसे काम करे. मैं कांग्रेस पार्टी जॉइन नहीं कर रहा हूं.
अब खबरों और हमारी पड़ताल में सामने आया है कि विपक्ष और कुछ पत्रकारों का यह दावा झूठा साबित हुआ है जिसमें कहा गया कि डीएस हुड्डा कांग्रेस में शामिल हो गये हैं.
यहाँ आपको यह भी जानकारी देना जरुरी हैं कि डीएस हुड्डा ने ही सर्जिकल स्ट्राइक का खाका तैयार करने वाले प्रमुख लोगों में से एक थे. पूरे सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान जनरल हुड्डा अपने कमरे में बैठकर पूरे ऑपरेशन को देख रहे थे.सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अपने ही बयान को लेकर डीएस हुड्डा काफी सुर्ख़ियों में रहे थे. इसमें उन्होंने कहा था इस घटना को थोड़ा ज्यादा ही हाइप दिया गया और थोड़ा सियासी बन गया। मगर सेना के लिहाज से कहें तो हमें इसको करने की जरूरत है और हमने उसे बखूबी अंजाम दिया…
पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर डीएस हुड्डा ने कहा कि हम बीती बातों पर फोकस न करें. आगे ऐसी घटनाएं न हों, इसके लिए क्या किया जाना चाहिए, इसपर बात होनी चाहिए. बीती किसी घटना पर बात करने से मुद्दे का हल नहीं निकलेगा.

Related Articles

423 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here