तेजस्वी यादव ने 10 लाख नौकरी देने का किया चुनावी वादा तो HAM के अध्यक्ष धीरेंद्र मुन्ना ने इस तरह कर दी बोलती बंद

74

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीख का ऐलान हो चुका है. जिसके चलते सभी दलों ने कमर कस ली है. चुनाव से पहले नेताओं के दल बदल का दौर भी शुरू हो गया है. वहीं इसी बीच सभी दल जनता को लुभावने में भी लग गए हैं.

जानकारी के लिए बता दें सभी दलों का अब जनता के लिए चुनावी वादों का पिटारा खुल गया है. एक तरफ सीएम नीतीश कुमार ने 7 निश्चय पार्ट 2 का ऐलान किया है. तो वहीं दूसरी ओर लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने रविवार को बड़ा दाव खेल दिया.

तेजस्वी यादव ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और 10 लाख रोजगार देने का वादा किया. साथ ही तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘पहली कैबिनेट में पहली कलम से बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे। बिहार में 4 लाख 50 हज़ार रिक्तियाँ पहले से ही है। शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हज़ार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है।’ अब उनके इस ट्वीट के बाद विपक्ष ने बड़ा हमला बोला है.

HAM बिहार के कार्यकारी अध्यक्ष धीरेंद्र मुन्ना ने तेजस्वी यादव के इस वादे पर तुरंत प’लटवार किया. उन्होंने कहा कि ‘लालू के 15 साल के शासन में बिहार ने देखा है कि कैसे जं’गल राज की वजह से करोड़ों लोग प’लायन को म’जबूर हो गए थे. अब उनकी पार्टी कह रही है कि 10 लाख नौकरियों देंगे, ये महज एक छ’लावा है. रं’गदारी और फि’रौती करवाना जॉब नहीं कहलाता।’ धीरेंद्र मुन्ना ने इस तरह लालू के लाल की बोलती बंद कर दी है.