मुंबई के धारावी में कोरोना का हाहाकार, एक दिन में 100 के पार कोरोना पॉजिटिव मामले

321

महारष्ट्र में कोरो’ना बुरी तरीके से फ़ैलता जा रहा हैं. आये दिन इसका कहर बढ़ता जा रहा हैं. कोरो’ना की रोकथाम के लिए उद्धव सरकार कर क्या रही है कुछ भी समझ नहीं आ रहा हैं. मुंबई के धारावी जहाँ पर बहुत ज्यादा तादात में कोरो’ना मरीज मिल रहे हैं.  

ऐसा ही कुछ आज देखने को मिला मुंबई में लाखों की आबादी वाली घनी बस्ती धारावी में कोरो’ना संक्रमण अपने पैर पसारता ही जा रहा है. गुरुवार को यहां 11 नए के’स सामने आने के साथ ही पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 71 पहुंच गई है. ये मुंबई वासियों के लिए एक बुरी खबर है. यहां कोरो’ना की वजह से अब तक 8 लोगों की मौ’त हो चुकी है. महाराष्ट्र में आज 165 नये मामलों के साथ कोरो’ना संक्रमित मरीजों की संख्या 3,ooo पार हो गई है. यहां 187 की मौ’त हो चुकी है.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) के एक अधिकारी ने बताया कि 11 नए मामलों में से चार धारावी के मुकुंद नगर, दो-दो सोशल नगर और राजीव नगर तथा एक-एक मामला साई राज नगर, ट्रांजिट कैम्प और रामजी चॉल इलाकों से सामने आए. उन्होंने बताया कि कुल 71 मामलों में से 18 मामले धारावी के मुकुंद नगर इलाके से, आठ सोशल नगर और सात मामले मुस्लिम नगर इलाकों से सामने आए. अभी तक धारावी के आठ मरीजों की मौ’त हो चुकी है. इस अत्यधिक भीड़भाड़ वाले इलाके में बनी झुग्गियों में करीब 15 लाख लोग रहते है.

मुंबई की घनी बस्ती धारावी के अंदर जिस हिसाब से कोरोना के मरीज मिल रहें हैं. इस खबर से कहीं न कही  बीएमसी (BMC) की नींद उड़ी हुई है. उसे भी समझ नहीं आ रहा है कि यहाँ पर किया क्या जाये जिसे कोरोना मरीजो कीई बढती संख्या को रोका जा सके.  15 लाख की आबादी वाली घनी बस्ती की वजह से यहां कोरोना वायरस फैलने का सबसे ज्यादा खतरा है.

मुंबई तो कोरोना का सेण्टर बनता हुआ नजर आ रहा है जिस हिसाब से वहां पर कोरोना मरीज बढ़ रहें हैं. मुंबई सरकार के लिए भी ये एक बहुत बड़ी परीक्षा का समय है कि इस बीमारी से कैसे बाहर निकला जाये क्योकि मुंबई के धारावी में आये दिन मरीजों की संख्या बढती ही जा रही है जो की एक बुरा सन्देश हैं.