तेजस्वी के रोजगार देने की बात पर फड़णवीस का बड़ा बयान, कहा पहले कैबिनेट में देंगे 10 लाख तमंचों का आर्डर और फिर..

570

बिहार में विधानसभा चुनावों का आगाज हो चुका है. चुनाव से पहले सियासत जारी है. सभी दलों ने जनता को लुभाने के लिए चुनावी वादे भी करना शुरू कर दिया है. बिहार में विधानसभा चुनावों के चलते सियासी गलियारों में हलचल तेज हो चुकी है और नेताओं के दल बदल का दौर भी शुरू हो गया है. चुनावों की तारीखों के ऐलान के बाद बीजेपी के कई बड़े नेता प्रचार प्रसार के लिए मैदान में उतर आये हैं.

जानकारी के लिए बता दें लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने अभी हाल ही में चुनाव प्रचार के दौरान ऐलान किया था कि अगर उनकी सरकार आती है तो वो 10 लाख लोगों को रोजगार देंगे. उनके इस बयान के बाद से ही बीजेपी नेता उनपर हमलावर हैं. बिहार बीजेपी चुनाव प्रभारी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने चुनावों की समीक्षा के बाद कहा कि बिहार में 58 फीसदी युवा है यानी कि राष्ट्रीय औसत से 8 फीसदी ज्यादा. जिसके चलते युवाओं के ऊपर काफी कुछ निर्भर करता है.

देवेंद्र फड़णवीस ने आगे कहा कि पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत और आत्मनिर्भर बिहार की रूपरेखा तैयार की है. उन्होंने कहा एनडीए सरकार से पहले बिहार में ना बिजली थी ना पानी था अब अगर आप बिहार के किसी भी गाँव में जाते हैं तो आपको सरकार की उपलब्धियां दिखाई देंगी. वहीँ उन्होंने तेजस्वी यादव के रोजगार वाले बयान पर सवाल खड़ा किया.

गौरतलब है कि देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि तेजस्वी कह रहे हैं कि उनकी सरकार आएगी तो 10 लाख लोगों को रोजगार देंगे. कैसा रोजगार देंगे पहले कैबिनेट में दस लाख तमं’चा खरीदने का ऑर्डर देंगे. कि’डनै’पिंग ही रोजगार होगा.उन्होंने कहा बिहार को अब ऐसा रोजगार नही चाहिए. बिहार अब लालू यादव वाला बिहार नही है ये मोदी जी वाला, नीतीश कुमार वाला और सुशील मोदी वाला बिहार है.