लॉकडाउन हुआ फेल, दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर अफरा-तफरी, प्रवासी मजदूरों में घर वापसी की बेचैनी

774

लॉकडाउन की वजह से दिल्ली और यूपी बॉर्डर पर अफरा तफरी मच गई है. फैक्ट्रियों और कंपनियों के बंद होने से बेरोजगार हुए मजदूर वापस अपने गाँव लौटने के लिए आनंद विहार और यूपी गेट पर इकट्ठे हो गए. लेकिन वहां बसें नदारद दिखी तो कुछ ही देर में वहां हज़ारों की भीड़ इकट्ठी होती चली गई. ये मजदूर गुडगाँव, फरीदाबाद, हरियाणा बॉर्डर से बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश जाने के लिए इकट्ठे हुए थे. उनमे कई छोटे छोटे बच्चे और महिलायें भी थी. जो कई अलग अलग हिस्सों से पैदल ही यूपी बॉर्डर तक पहुंची थीं.

आनंद विहार, कौशाम्बी दीपो और दिल्ली गेट पर यात्रयों की भीड़ को देखते हुए यूपी परिवहन निगम दो दिनों में एक हजार बसें चलाने का दावा कर रहा है जो इन लोगों को बिहार और यूपी के अलग अलग शहरों तक छोड़ कर आएगी. लेकिन भीड़ को देखते हुए ये बसें भी नाकाफी लग रही है. यूपी के अलग-अलग जिलों में जानेवाली ये बसें आज और कल चलेंगी. सुबह 8 बजे से ये बसें चलने लगी हैं और हर दो घंटे के गैप पर 200-200 बसें चलेंगी.

भीड़ ने न तो सोशल डिस्टेंसिंग की परवाह की जा रही है और न जान की. लोगों को जो बसें दिख रही है वो उसमे जान की परवाह किये बिना चढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. भीड़ इतनी ज्यादा है कि पुलिस को भी समझ नहीं आ रहा वो क्या करे. हालाँकि दिल्ली सरकार ने लोगों को जो जहाँ है वहीँ रुकने को कहा है लेकिन लोगों तक शायद सरकार की ये बातें पहुँच नहीं पा रही और वो जल्द से जल्द अपने गाँव/घर पहुंचना चाहते हैं.