ये क्या कह डाला निर्भया के दोषी ने? सुप्रीम कोर्ट में लगाईं है याचिका

14503

दिल्ली में हुए निर्भया काण्ड के आरोपियों को फांसी की सजा मिल चुकी है लेकिन अभी तक इन्हें सजा दी नही गयी है. ऐसे संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही इन्हें फांसी की सजा दी सकती है. ऐसे में अब आरोपियों में से एक अक्षय ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाईं है.

दरअसल फांसी की सजा पाने वाले अक्षय ने पुनर्विचार याचिका में कई तरह की दलीलें दी हैं. उसने कहा है कि दिल्ली के लोग हवा-पानी के प्रदूषण से मर रहे हैं तो फिर फांसी क्यों दी जा रही है? अक्षय की याचिका में लिखा गया है कि ‘दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर है और यह गैस चैंबर में तब्दील हो चुकी है. ऐसे में उसे मृत्यु दंड अलग से देने की क्या जरूरत है?’

इस याचिका में कहा गया है कि दिल्ली का पानी भी जहरीला हो चुका है. ऐसे में जब जहर भरी हवा और पानी के चलते लोगों की उम्र काफी कम होती जा रही है फिर फांसी क्यों दी जा रही है. इसके साथ ही याचिका में वेद पुरानों के भी उपनिषद का जिक्र किया गया है. अक्षय ने कहा है कि वेद पुराण और उपनिषद में लोगों के हजारों साल तक जीने का उल्लेख मिलता है. धार्मिक ग्रंथों के मुताबिक सतयुग में लोग हजारों साल तक जीते थे और आज के समय में लोग 50 60 तक जीते हैं ऐसे में उन्हें फांसी देने की जरूरत क्या है?

आपको बता दें कि साल 2016 में दिल्ली में एक मेडिकल की छात्रा के साथ बस में पञ्च लोगों ने मिलकर दरिंदगी की थी. इसके बाद खूब हंगामा मचा था. सरकार ने पूरे देश को भरोसा दिलाया था कि जल्द ही आरोपियों को सजा दिलाएंगे लेकिन अभी तक आरोपियों को फांसी पर लटकने का इन्तजार हो रहा है. दया याचिका राष्ट्रपति के पास भेज दी गयी है और इसके साथ ही गृह मंत्रालय ने भी राष्ट्रपति से दया याचिका खारिज करने का आग्रह किया है.