दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल की बड़ी लापरवाही आई सामने, अस्पताल से लापता हुआ कोरोना पॉजि’टिव मरीज

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्र’मित लोगो की संख्या में हर दिन इजाफा होता जा रहा है. ऐसे में दिल्ली के हालात काफी ज्यादा ख़राब हो चुके है. वही दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल ने भी कहा है कि दिल्ली में केवल दिल्ली के ही मरीजो का इलाज होगा. जाहिर है एक तरफ मामले बढ़ रहे है. वही दूसरी तरफ प्रदेश सरकार ने केवल दिल्ली के लोगो के इलाज की ही पर’मिशन दी है.

वही इन सब के बीच एक चौ’काने वाला मामला सामने आया है. दरअसल दिल्ली के लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित एक मरीज पिछले 6 दिनों से लाप’ता है. बता दें कोरोना पॉजि’टिव पाए जाने के बाद 65 साल के राज नारायण महतो को 1 जून को एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जिसके बाद वो अब वह ला’पता है.

वहीं महतो के बेटे नीरज कुमार ने कहा कि उन्होंने अपने पिता को पहले जनकपुरी के माता चानन देवी अस्पताल में भर्ती कराया था. लेकिन वहां से उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में रे’फर कर दिया गया था. वही नीरज कुमार ने कहा कि उनके पिता वार्ड नंबर 31 में भर्ती मरीज के रूप में वहां है. और वो उनके लिए कुछ दिनों से खाना भेज रहे हैं जो वापस आ रहा है. जब उन्होंने हॉस्पिटल में अपने पिता को लेकर जानकारी मांगी तो उनको गु’मा फिरा के जवाब दिए जा रहे है.

जिसके बाद नीरज ने कहा कि मैंने उन सभी वार्डों को खं’गाल ‘मारा जहां-जहां अधिकारियों ने कहा. लेकिन पिता जी नहीं मिले. पहले उन्हें वार्ड नंबर 31 में एड’मिट किया गया था. एक शख्स ने बताया कि पिता जी को ICU4 में शि’फ्ट किया गया है. लेकिन वह वहां भी नहीं मिले. उनके पास फोन भी नहीं है. मैंने पुलिस में भी शि’कायत की है ताकि अधिकारी उनकी खोज’बीन कर सकें . वही पुलिस इस मसले की जांच कर रही है और मरीज को ढूं’ढने की कोशिश कर रही है.

लेकिन सवाल यह उठता है कि अस्पताल में कोरोना मरीज का इस तरीके से ध्यान रखा जा रहा है कि मरीज गायब हो गया प्रशासन को इसकी खबर भी नहीं है ठीक से न ही उन्होंने मरीज की खबर उनके परिवारजन को दी. जो की एक बड़ी लापरवा’ही है.