शाहीन बाग़ प्रदर्शन पर कोर्ट का बड़ा फैसला, पुलिस को दिया एक्शन लेने का आदेश

2277

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग़ में पिछले एक महीने से प्रदर्शनकारी सड़क पर कब्ज़ा कर के बैठे हैं जिस कारण कालिंदी कुंज मार्ग बंद पड़ा है. इस मार्ग के बंद होने से मथुरा रोड पर लोगों को भयंकर जाम का सामना करना पड़ता है और साथ ही स्थानीय व्यापारियों को भी कारोबार में नुक्सान हो रहा है. बोर्ड परीक्षाएं नजदीक है जिस कारण छात्रों को स्कूल आने जाने में परेशानी हो रही है. इन सब बातों को ध्यान में रखकर कोर्ट ने बड़ा आदेश दिया है.

नोएडा से दिल्ली, फरीदाबाद और गुरुग्राम को जोड़ने वाले कालिंदी कुंज रोड को लेकर हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को मामले पर ऐक्शन लेने का आदेश दिया है ताकि जाम को ख़त्म किया जा सके और लोगों की परेशानियों का अंत हो. कोर्ट ने ये आदेश स्कूली बच्चों का पक्ष रखने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया.

सरिता विहार रेजिडेंट्स वेलफेयर असोसिएशन की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि 15 दिसंबर से इस रोड के बंद होने के चलते स्कूली छात्रों को परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है. बोर्ड परीक्षाओं का समय है. जाम के कारण बच्चों को स्कूल आजे जाने में परेशानी हो रही है. वक़्त बर्बाद हो रहा है. नोएडा से सरिता विहार के स्कूलों में आने-जाने वाले छात्रों घंटो भयंकर जाम से जूझते हैं और कई बार उन्हें स्कूल पहुंचने में देरी हो जाती है. इससे उनकी पढाई का नुक्सान हो रहा है. इस याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस नवीन चावला ने दिल्ली पुलिस को रोड बंद होने के मसले पर ऐक्शन लेने का आदेश दिया और रोड को फिर से चालू करने का आदेश दिया.