दिल्ली में कौन होगा विजयी? जानिये क्या कहती है मनोज तिवारी और केजरीवाल की कुंडली ?

6027

दिल्ली चुनाव में अब एक महीने से भी कम वक़्त बचा है. पार्टियाँ अपने अपने उम्मीदवारों के नाम कि घोषणा कर रही है. भाजपा, आप और कांग्रेस तीनों पार्टियाँ अपनी अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. लेकिन राजनितिक विश्लेषकों को लगता है कि भले ही तीनों पार्टियाँ अपनी अपनी जीत के दावे करें लेकिन मुख्य मुकाबला तो भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच ही है. ऐसे में आइये जानते हैं क्या कहती है नेताओं की कुंडली.

भाजपा पिछले 20 सालों से दिल्ली की सत्ता में बाहर है. पार्टी ने भले ही किसी को मुख्यमंत्री का चेहरा बना कर पेश नहीं किया हो लेकिन सबको पता है कि चेहरा तो प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ही हैं. दिल्ली चुनाव की जिम्मेदारी पार्टी ने उन्ही के कंधो पर सौंपी है. ज्योतिषी अर्पित शर्मा जी के अनुसार मनोज तिवारी की राशि मेष है. मनोज तिवारी की कुंडली के नवम भाव में बृहस्पति विराजमान है. जो उनकी स्थिति को अच्छी तो बनाती है लेकिन 28 जनवरी के बाद नवम भाव में केतु का प्रवेश होगा और वो बृहस्पति के साथ एक युति बनाएगा जिस कारण स्थिति मनोज तिवारी के प्रतिकूल बनेगी. हालाँकि बृहस्पति के साथ होने के कारण केतु उतना प्रभाव नहीं डाल पायेगा. इसलिए भाजपा टक्कर देने की स्थिति में रहेगी और उसका प्रदर्शन पिछली बार से बहुत अच्छा होगा.

बात करें अरविन्द केजरीवाल की कुंडली की तो उनकी राशि भी मेष है. उनकी राशि के नवम भाग में भी बृहस्पति के साथ केतु विराजमान है. लेकिन चुनाव से ठीक पहले 5 फ़रवरी के बाद केतु नवम भाग से निकल कर दशम भाग में प्रवेश कर जाएगा और बृहस्पति नवम भाव से निकल कर चौथे भाव में प्रवेश कर जाएगा जहाँ पहले से मौजूद शुक्र और बुध के साथ युति बनाएगा. जो केजरीवाल के लिए अच्छा संकेत बनाता है. इसी वजह से अरविन्द केजरीवाल मनोज तिवारी पर भारी पड़ते नज़र आ रहे हैं.