लॉकडाउन में छू’ट मिलते ही दिल्ली में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा सामने आये कोरोना सं’क्रमित मा’मले

891

कोरोना का सं’कट अभी तक ट’ला भी नहीं था कि राज्य सरकारों ने अपने अपने राज्यों में लोगो को राहत देते हुए कुछ विशे’ष छू’ट का ऐला’न कर दिया. जिसकी वजह से अब सवाल यह उठता है कि कोरोना का’ल में इतनी जल्दी ज्यादा छू’ट देना सही है या नही .

दरअसल पिछले 24 घंटों में देश की राजधानी दिल्ली में अभी तक के सबसे ज्यादा कोरोना से सं’क्रमित माम’ले सामने आये है. जिसके बाद ये सवाल उठ रहे है कि एक साथ इतने माम’ले बढ़ने का कारण लॉकडाउन में ज्यादा छूट तो नहीं है. जाहिर है दिल्ली में अभी तक कुल के’सों की संख्या 10554 हो चुकी है. जिसमें से 5638 ऐ’क्टिव हैं और 166 लोग कोरोना की वजह से जा’न गं’वा चुके हैं.

वहीं जब इस माम’ले पर दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल से पूंछा गया तो उनका कहना था कि फिलहाल कोरोना के साथ ही जी’ना सीखना होगा क्योंकि इसका इला’ज निकट भवि’ष्य में नहीं दिख रहा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली को धीरे-धीरे ही खोला जा रहा है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि मेट्रो, मॉल, हॉल फिलहाल बंद ही हैं.

जाहिर है दिल्ली में 24 घंटे के अंदर 500 के करीब माम’ले सामने आये है. जिसकी वजह से स्थिति ख़राब हो चुकी है दिल्ली की. वहीं विशेष’ज्ञ का कहना है कि जून-जुलाई में कोरोना वायरस अपने पी’क पर होगा, यानी उस दौरान सबसे ज्यादा मरीज सामने आने और वायरस के ख’तरनाक होने की संभा’वना जताई जा रही है. जिसका अंदाजा वर्तमा’न स्थि’ति को देख कर के ही लगाया जा सकता है.

गौरतलब है ऐसी स्थि’ति में इतनी जल्दी छूट देना कही न कही राज्य सरकारों की सबसे बड़ी गल’ती सा’बित हो सकती है. जब कोरोना से हाला’त सुध’रे भी न हो. ऐसे में इतने लोगो की जा’न को जोखि’म में डालना सही नहीं है. वही लोगो को भी घरो में रह कर ही काम करना ज्यादा बेहतर है.