जामिया में आगजनी करने वाले लोग कौन है? सच्चाई जानिये और समझिये

2386

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर कुछ जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. आगजनी हो रही है, हिंसा हो रही है, तोड़ फोड़ हो रही है. सरकारी संपत्ति को तोड़ने के लिए लोगों का उकसाया जा रहा है. इसके कई वीडियो भी हमारे सामने आ चुके हैं. ऐसे में दिल्ली में जामिया के छात्रों द्वारा किये गये उग्र प्रदर्शन के बाद अब पुलिस ने कार्रवाई शुरू की है और कई लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किये गये लोगों में जो लोग शामिल है वो आपको पूरा खेल समझने में आपकी मदद करने वाले है.

जानकारी के मुताबिक़ दंगा, तोड़फोड़ और आगजनी करने के आरोप में 10 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आपको जानकार हैरानी होगी कि प्रदर्शन तो जामिया के छात्र कर रहे थे लेकिन गिरफ्तार लोगों में से कोई भी जामिया का छात्र नही है. सभी आरोपी क्रिमिनल बैकग्राउंड के लोग है और इनमे से 3 तो ऐसे लोग हैं जो इलाके के बीसी यानि बेड करेक्टर घोषित है. बता दें कि दिल्ली पुलिस ने सोमवार को ही केस क्राइम ब्रांच को सौंप दिया था. अब पुलिस वीडियो की मदद से हिंसा में शामिल लोगों की पहचान में जुटी है. 

वैसे कई लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने ही आगजनी की है बसों में आग लगाईं और गुंडागर्दी की है. दरअसल एक वीडियो सामने आया है जिसमें पुलिस के जवान एक प्लास्टिक की बोतल से बसों पर पानी डाल रहे थे जिसे ये कहा गया कि पुलिस आग लगा रही थी. इसी पर दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि ‘अफवाह फैलाने वालों ने दिल्ली पुलिस पर भी आरोप लगाए हैं. एमएस रंधावा ने बताया, ‘मैं आपको बताना चाहूंगा कि जो वीडियो वायरल किया जा रहा है अफवाह फैलाने के लिए उसमें पुलिस के जवान बस में आग बुझा रहे थे. प्रदर्शनकारियों ने 04.30 बजे के बाद तोड़फोड़ की ‘ 

अभी एक और वीडियो सामने आया है जिसमें दिल्ली पुलिस के जवान माइक के जरिये लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि आप लोगों के बीच में कुछ उपद्रवी घुस गये हैं, पत्थर मत मारिये हम आपकी सुरक्षा के लिए हैं, बोतल मत फेंकिये ये आपके लिए ही नुकसान दायक होगा. आप शांति रखिये वरना हमें मजबूरन बल प्रयोग करना पड़ेगा.

इस पूरे घटनाक्रम पर आप क्या सोचते हैं? हमें करके जरूर बताइये