एक हफ्ते में ‘छपाक’ का हुआ ऐसा हाल कि अब फ़िल्मी सितारे JNU जाने से डरेंगे

7247

बॉलीवुड में कहा जाता है कि विवादों से फिल्म को फायदा होता है. दीपिका आमिर खान की पीके को लेकर खूब विवाद हुआ. हिन्दुओं की भावनाएं आहत करने के आरोप लगे. लेकिन इसके बावजूद फिल्म ने खूब पैसा कमाया. इससे पहले आमिर खान कि फिल्म फना को लेकर भी खूब विवाद हुआ था. दरअसल उन दिनों गुजरात में नर्मदा पर बन रहे बाँध के खिलाफ मेधा पाटेकर आन्दोलन कर रही थी. आमिर खान उनके आन्दोलन में पहुंच गए. गुजरात में फिल्म सही वक़्त पर रिलीज नहीं हो पाई. हालाँकि इसके बावजूद फिल्म हिट हो गई थी.

अपनी फिल्म जय हो कि रिलीज के वक़्त सलमान खान गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री के साथ जा कर पतंग उड़ा आयें, जिसके बाद मुस्लिम संगठन भड़क गए. लेकिन इसके बावजूद जय हो हिट हो गई. दीपिका पादुकोण की फिल्म पद्मावत के वक़्त भी खूब विवाद हुआ. आरोप लगाए गए कि इसमें रानी पद्मावती की छवि बिगाड़ने की कोशिश कि गई है. करनी सेना ने खूब विरोध किया. हिंसक विरोध भी हुआ लेकिन फिल्म जब रिलीज हुई तो इसने 300 करोड़ का बिजनेस कर लिया. फिल्म को विवादों का फायदा मिला और ये जबरदस्त हिट रही.

अब आते हैं दीपिका की फिल्म छपाक पर. फिल्म की रिलीज से चार दिन पहले दीपिका JNU में छात्रों के आन्दोलन को सपोर्ट देने पहुँच गई. उनकी PR टीम को लगा कि देश की सारी मीडिया JNU में है. JNU की छोटी से छोटी बात भी देश में गूंजती है इसलिए फिल्म की पब्लिसिटी के लिए JNU से बढ़िया और कुछ नहीं. लिहाजा दीपिका JNU पहुँच गई. लेकिन सारी योजनायें धरी की धरी रह गई. दीपिका के पब्लिसिटी स्टंट से एक वर्ग भड़क गया. सोशल मीडिया पर बायकॉट छपाक ट्रेंड चलाये गए. लिहाजा फिल्म को पहले दिन ही कम ओपनिंग मिली. वीकेंड में भी फिल्म का बिजनेस कुछ ख़ास नहीं रहा. उसके बाद दिन पर दिन फिल्म का बिजनेस गिरता गया और 35 से 40 करोड़ में बनी फिल्म एक हफ्ते में महज 27 करोड़ का बिजनेस कर सकी.

छपाक का जो हाल हुआ, उस्न्मे ये साबित कर दिया कि विवादों का फायदा फिल्म को मिलता तो है लेकिन अगर विवाद राजनीतिक हो तो पब्लिसिटी स्टंट बैकफायर भी कर सकता है. दीपिका और छपाक के साथ यही हुआ. अब भविष्य में कोई भी फिल्म स्टार पब्लिसिटी के लिए JNU जाने से डरेगा.