रोहिणी सिंह ने दीपक चौरसिया को पत्रकार मानने से किया इंकार तो दीपक ने बंद कर दी रोहिणी की बोलती

2570

प्रोपगैंडा वेबसाईट द वायर खुद को आगे किसी को निष्पक्ष मीडिया नहीं मानता और इसके पत्रकार खुद को ही सबसे बड़ा सच्चा जर्नलिस्ट समझते हैं. जबकि सच तो ये है कि ये कितने बड़े प्रोपगैंडाबाज है किसी से छुपा हुआ नहीं है. द वायर में काम करने वाला शरजील इमाम असम को देश से अलग करने की बात करता है. आर्टिकल 370 और अयोध्या के मसले पर किस तरह से द वायर ने प्रोपगैंडा फैलाया ये सबने देखा.

बीते दिनों शाहीन बाग़ में न्यूज नेशन के पत्रकार दीपक चौरसिया पर हमला किया गया. चूँकि ये मीडिया पर हमला था तो सभी मीडियाकर्मियों को इस घटना कि निंदा एक सुर में करनी चाहिए थी लेकिन द वायर के सच्चे पत्रकारों ने दीपक चौरसिया को पत्रकार मानने से ही इनकार कर दिया. द वायर की रोहिणी सिंह ने ट्वीट किया, ‘दीपक चौरसिया कोई जर्नलिस्ट नहीं है. लेकिन फिर भी उसके ऊपर हुए हमले को जस्टिफाई नहीं किया जा सकता. लेकिन ये भी सच है कि सिर्फ हमला होने से ही दीपक जर्नलिस्ट नहीं बन जाएगा.’

रोहिणी के ट्वीट का जवाब दो दिनों बाद दीपक चौरसिया ने दिया. दीपक ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘रोहिणी मैं एक गरीब पृष्ठभूमि से आकर अपने दम पर पत्रकारिता की. मेरा कसूर सिर्फ इतना है कि मैं आप की तरह डिजाइनर पत्रकार नहीं हूँ! मेरा वित्त मंत्रालय में परिचय नीरा राडिया ने नहीं कराया! ना ही मैंने आजतक किसी सरकार से 3BHK फ़्लैट लेकर खबरें लिखी है!’

हालाँकि यहाँ ये स्पष्ट नहीं हुई कि 3BHK फ़्लैट टर्म का इस्तमाल किस सन्दर्भ में किया गया है. सोशल मीडिया पर रोहिणी सिंह को 2BHK और 3BHK जर्नलिस्ट कहा जाता है. अब क्यों कहा जाता है इसके बारे में सटीक जानकारी नहीं है.