कश्मीर पर भारत विरोधी बयानबाजी करना इस ब्रिटिश सांसद को पड़ा महंगा, भारत सरकार ने उठाया ये कदम

1626

कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें मिर्ची लग गई. ये जानते हुए भी कि कश्मीर भारत का आंतरिक मसला है कुछ लोग भारत के आन्तरिक मसले में टांग अडाने से बाज नहीं आये. मलेशिया, तुर्की के अलावा कुछ विदेशी सांसद भी कश्मीर के मुद्दे पर भारत विरोधी बयान देते रहे. लेकिन अब उन्हें ऐसा करना महंगा पड़ने लगा है. भारत की नाराजगी की ताजा शिकार बनी हैं ब्रिटेन के लेबर पार्टी की सांसद डेबी अब्राहम.

कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद डेबी ने कश्मीर में मानवाधिकार के हनन के सवाल उठाये थे और साथ ही मोदी सरकार की कश्मीर नीति पर भी सवाल उठाये थे. अब भारत सरकार ने उनके बयानों से नाराज होकर भारत में उनकी एंट्री पर बैन लगा दिया है. भारत ने डेबी का वीजा कैंसल कर दिया. सोमवार सुबह करीब 8.50 पर जब दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचीं तो उन्हें बताया गया कि उनका वीजा कैंसल कर दिया गया है. वैसे तो उनका वीजा अक्टूबर 2020 तक मानी था लेकिन सरकार ने तत्काल उनका वीजा कैंसल कर दिया.

वीजा रद्द किये जाने से नाराज डेबी ने ट्विटर पर लिखा, ‘मैं अपनी भारतीय रिश्तेदारों से मिलने जा रही थी, मेरे साथ हिंदुस्तानी स्टाफ मेंबर भी थे. मैंने राजनीतिक आवाज सिर्फ ह्यूमन राइट्स के लिए उठाई. मैं अपनी सरकार के खिलाफ इस मसले पर सवाल उठाती रहूंगी.’

इस पूरे मसले पर केंद्रीय गृह मंत्रालय सूत्रों का कहना है कि ब्रिटिश सांसद का ई-वीज़ा पहले ही कैंसिल कर दिया गया था और उन्हें इस बारे में सूचना भी दी गई थी. जब वह इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर आईं तो उनके पास वीज़ा नहीं था.