कुलभूषण केस में हरने के बाद भी पाक कर रहा है ऐसी बात

जासूसी के झूठे आरोप में पाकिस्‍तान की जेल में बंद नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के केस की सुनवाई  में आखिर कार इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) ने अपना फैसला सुना दिया है. फैसला भारत के पक्ष में सुनाया गया. कोर्ट का कहना था कि पाकिस्तान ने वियना समझौते का सीधे-सीधे उल्लंघन किया है, अब पाकिस्तान को अपने फैसले पर एक बार फिर से विचार करने की ज़रुरत है. लेकिन इसके बाद भी पाकिस्तानी अपनी हर स्वीकार करने को राज़ी नहीं हो रहा. और वहां के मंत्रियों का एक बार फिर से रोना धोना चालू हो गया है.

Source : Breaking Tube

कोर्ट के फांसी पर रोक लगाने के फैसले के बाद अब पाकिस्तानी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन की ओर से एक ट्वीट आया जिसमे उन्होंने भारत की जीत को सिरे से नकार दिया और पाकिस्तानी वकीलों की मुकदमा लड़ने के लिए तारीफ की. हार न मानने की भूख ने उसने ये तक केहेलवा दिया की भारत, पाकिस्तान में आतंक फैलाता है.

“भारत को ये मान जाना चाहिए कि पाकिस्तान के प्रति उसकी नीतियाँ गलत हैं और उन्हें पाकिस्तान के प्रति फिर से सकारात्मक तरीके से अपनी नीतियों पर सोच विचार करना चाहिए. पाकिस्तान को कमजोर करने की कोशिशें दोनों को नुकसान पहुंचा रही है. भारत को कश्मीर पर अपने रुख पर दुबारा से विचार करना चाहिए और इस मसले को सुलझाने के लिए बातचीत की फिर से शुरुआत करनी चाहिए.”

फवाद चौधरी के रवैए से वो कहावत सिद्ध होती है की रस्सी जल गई मगर दम नहीं गया, शिकस्त के बाद भी उल्टे भारत पर ही आतंक फैलाने का आरोप लगाना और कहना की, “पाकिस्तान में आतंक फैलाने से चीजें सुधरने वाली नहीं हैं,” से वो केवल हँसी के पात्र बन रहे है. वहीँ दूसरी तरफ फैसला भारत के पक्ष में आना, एक बड़ी diplomatic और strategic जीत की ओर इशारा करता है.

Related Articles