एक तरफ तो अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत दौरे पर हैं और दूसरी तरफ CAA विरोधियों ने देश की इज्जत की परवाह न करते हुए देश की राजधानी दिल्ली में त’बा’ही मचा दी. उत्तर-पूर्वी दिल्ली के इलाके भजनपुरा, मौजपुर, बाबरपुर, जाफराबाद के इलाके यु’द्ध के मैदान बने हुए हैं. सड़कों पर ईंट, पत्थर, शीशे के टुकड़े और ज’ली हुई गाड़ियों का अम्बार लगा है. दूर से उठते हुए धु’एं का गुबार दिल्ली के भ’या’वह हालात की गवाही दे रहे हैं. दं’गाइ’यों के हौसले इतने बुलंद हैं कि उन्होंने एक हेड कांस्टेबल रतन लाल की ह’त्या कर दी और शाहदरा के DCP को लिं’च करने की कोशिश की.

शाहदरा के DCP अमित शर्मा चांदबाग़ इलाके में भीड़ को समझाने गए थे लेकिन CAA विरोधियों की भीड़ ने उन्हें उनकी सरकारी गाड़ी से बाहर खिंचा और इतना मा’रा की वो सड़क पर ही अ’चेत हो कर गि’र पड़े. उन्हें जल्दी से पटपड़गंज के मैक्स हॉस्पिटल के आईसीयू (ICU) में भर्ती कराया गया. उनके सर में गं’भीर चो’टें आई हैं. सोमवार की रात उनके सिर की सर्जरी की गई. अब उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जारी हिंसा में अब तक 7 लोगों की मौ’त हो गई है जबकि 100 से अधिक लोग घा’य’ल हुए हैं. घा’य’लों में 20 से अधिक पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में एक महीने के लिए धारा 144 लगा दी गई है. बिगड़े हालात को देखते हुए खुद गृह मंत्री अमित शाह ने मोर्चा संभाला है और सोमवार को देर रात हाईलेवल मीटिंग हुई और पुलिस को आवश्यक निर्देश दिए गए. दं’गा’ई इतने बेख़ौफ़ हैं कि वो पुलिस पर प’त्थर फें’कने के अलावा ब’न्दू’क भी तान रहे हैं.