जल्द घोषित हो सकती है 2019 लोक चुनावों कि तारीख़

302

लोक सभा चुनाव 2019 के ऐलान कि कयासों के बीच खबर आ रही है कि मार्च के दूसरे हफ्ते में तारीखों की घोषणा हो सकती है. वरिष्ठ चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि चुनाव कि तारीख मंगलवार तक घोषित कर दी जाएगी.
सूत्रों ने ये बताया की चुनाव के पहले चरण कि नोटिफिकेशन मार्च के अंत तक जारी कर दी जाएगी जिसके लिए चुनाव अप्रैल में होंगे.
ऐसा माना जा रहा है कि हर बार कि तरह इस बार भी चुनाव आयोग लोक सभा चुनावों के साथ विधान सभा के चुनाव भी कराएगा. आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव लोक सभा चुनावों के साथ हो सकते हैं.
जम्मू कश्मीर की असेंबली भी भंग है, जिसके बाद चुनाव आयोग द्वारा वहां छह महीने के अंदर अंदर चुनाव कराना अनिवार्य है. छह महीने की सीमा भी मई में खत्म हो रही है. हालाँकि जम्मू कश्मीर के चुनाव लोक सभा चुनावों के साथ कराए जा सकते हैं लेकिन देखना ये होगा कि जम्मू कश्मीर में सिक्यूरिटी के हालात कैसे रहते हैं. पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव. बॉर्डर पर सीस्फायर का उलन्घन और लगातार आतंकवादी हमले चुनाव आयोग कि मुश्किलें बड़ा सकते हैं.
गौर करने कि बात ये है कि केंद्र सरकार और जम्मू कश्मीर प्रशासन जो अभी राज्यपाल शासन के अंदर है नहीं चाहते कि जम्मू कश्मीर और लोक सभा चुनाव एक साथ हों. वही पिछले हफ्ते सारे राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग के साथ बैठक की थी और चुनाव आयोग को लोक सभा और विधान सभा चुनावों को एक साथ कराने कि मांग रही थी.
जम्मू कश्मीर कि असेंबली कि अवधि 6 साल की होती है जिस का टर्म 16 मार्च 2021 को ख़त्म होना था लेकिन बीजेपी और पीडीपी के गठबंधन टूटने से राज्यपाल ने असेंबली भंग कर दी थी. लेकिन बाकी राज्यों कि विधान सभा और देश कि लोक सभा कि अवधि 5 साल की ही होती है.
सिक्किम असेंबली के पांच साल 27 मई 2019 को पूरे हो रहे हैं वही आंध्र प्रदेश, ओडिशा और अरुणाचल प्रदेश के पांच साल 18 जून, 11 जून और 1 जून को ख़त्म हो रहे हैं.
चुनाव आयोग पहले ही कई रिव्यु मीटिंग कर चुका है ताकि पूरी तैयारी के साथ चुनाव को कराया जा सके.
चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के साथ पेपर ट्रेल यानी विविपीऐटी मशीन के इंतज़ाम भी कर लिए हैं जिन्हें 543 जिलों में दस लाख मतदान केन्द्रों में लगाया जायेगा. ऐसा माना जा रहा है कि चुनाव सात से आठ चरणों में पूरे होंगे.
आपको बता दें, 2004 में आयोग ने 29 फ़रवरी को घोषणा की थी की चुनाव कि प्रक्रिया चार चरणों में पूरी होगी जिसमें मतदान का पहला दिन 20 अप्रैल होगा और आखिरी दिन 10 मई.
2009 में आयोग ने 2 मार्च को लोक सभा चुनाव कि प्रक्रिया कि घोषणा की थी. पांच चरणों में मतदान का पहला दिन 16 अप्रैल था और आखिरी दिन 13 मई.
वही 2014 में आयोग ने 5 मार्च को चुनाव कि प्रक्रिया का ऐलान कर दिया था जिसमें मतदान अप्रैल और मई में 9 चरणों में हुए थे.