इस किताब में 40 साल पहले ही कर दी थी कोरोना वायरस की भविष्यवाणी, दुनिया भर में मचा तहलका

1542

कोरोना वायरस ने चीन में ऐसा कहर बरपाया कि पूरी दुनिया कांप गई. अब तक अकेले चीन में 1700 लोगों की मौ’त हो चुकी है. 25 से ज्यादा देशों में कोरोना का संक्रमण फ़ैल गया है. पूरी दुनिया कोरोना से निपटने के उपाय ढूँढने में व्यस्त है. लेकिन इस बीच एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. एक किताब में 40 साल पहले ही ये भविष्यवाणी कर दी गई थी कि चीन में कोरोना वायरस का संक्रमण फैलेगा.

साल 1981 में एक किताब लिखी गई थी, जिसका नाम है ‘द आइज ऑफ़ डार्कनेस’. इस किताब को लिखा है डियाज कून्ट्ज ने. इस किताब में चीन की कहानी है और इसमें वुहान – 400 नाम के एक वायरस का जिक्र है जिसकी वजह से बहुत तबाही मचती है. किताब की कहानी के अनुसार लैब में जैविक हथियार बनाने के क्रम में ही वायरस लीक हो जाता है और फिर ये लैब से बाहर निकल कर पूरे शहर में फ़ैल जाता है.

सोशल मीडिया पर अचानक से ये किताब और इसकी कहानी ट्रेंड होने लगी है. ट्विटर पर @DarrenPlymouth नाम के एक अकाउंट से इस किताब के कवर को पोस्ट किया गया. साथ ही कहानी के कुछ अंश भी थे जिसमे वुहान-400 वायरस का जिक्र था. इस कहानी को देख कर सब हैरत में पड़ गए. किसी को यकीन नहीं हो पा रहा कि 40 साल पहले लिखी कहानी इस तरह से सच हो सकती है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने भी किताब के कुछ अंश शेयर किये हैं.