देश में कोरोना से रिकवरी का आंकड़ा बढ़ा, 15 जिलों में नहीं 4 ह’फ़्तों में कोई नए के’स

152

कोरोना वायरस से आज पूरा देश लड़ रहा हैं और आये दिन देश के अंदर कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे हैं. सरकार कोरोना के बचाओ को लेकर कोई न कोई कदम उठा रही हैं ताकि कोरोना वायरस को जितनी जल्दी हो सके उसे ख’त्म किया जा सके.

इसी बीच स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि भारत में 24 घंटे में कोरोना 1684 नए मामले सामने आए हैं. जिस वजह से कुल कंफर्म मामले बढ़कर 23077 हो गए हैं. इनमें से 17610 के’सों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. पिछले 24 घंटों में 491 लोगों इलाज के बाद ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं. भारत में अब तक ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 4748 हो गई है स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि इसके साथ ही अब हमारा रिकवरी रेट अब 20.5 प्रतिशत है. ये हम सबके लिए एक बहुत ही पॉजिटिव खबर है. इसी तरह पिछले 28 दिनों में जिन जिलों से कोई के’स सामने नहीं आए हैं उसकी संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है. ऐसे जिलों की संख्या अब 15 हो गई है.

इससे पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में गृह मंत्रालय की प्रवक्ता पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि जो ‘क्षेत्र हॉटस्पॉट नहीं हैं वहां कुछ छूट दी गई है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि आर्थिक गतिविधियों, उद्योगों को लेकर कुछ गलतफहमी थी. गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखी है. किसी फैक्ट्री में संक्रमण होने पर मालिक को सजा नहीं होगी, गृह मंत्रालय के आदेश को गलत समझा गया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें दिशा-निर्देशों की सही जानकारी दें. और छूट के दौरान दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन हो.

गृह मंत्रालय आगे बताया कि कोरोना से बेहतर ढंग से निपटने के लिए 4 और इंटर मिनिस्ट्रियल टीमों का गठन किया गया है. पहले 6 टीमें थीं अब 4 टीम और बनाई गई हैं. गृह मंत्रालय के मुताबिक नई मिनिस्ट्रियल टीमें सूरत, अहमदाबाद, चेन्नई और हैदराबाद जाएंगी. गृह मंत्रालय ने बताया कि दो टीमों ने अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंप दी है.

बाकि दोनों ही टीमों ने रिपोर्ट में लॉकडाउन को प्रभावी बताया है. इसके साथ ही सुझाव दिया है कि टेस्टिंग और सैंपलिंग को बढ़ाया जाए. और स्लम और बस्तियों में पौष्टिक आहार का वितरण बढ़ाया जाए. रिपोर्ट के मुताबिक धारावी में कम्युनिटी टॉयलेट की वजह से लोगों को बाहर निकलना पड़ रहा है. जिसकी वजह से वहां पर कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मरीज सामने आ रहा हैं. आज देश में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज मुम्बई के धारावी से आ रहें हैं जिसकी रोकथाम के लिए गृह मंत्रालय ने वहां पर अपनी टीम भेजी हैं. ताकि कोरोना को रोका जा सके.