कोरोना पर बोले नॉर्थ ईस्ट के स्टूडेंट, हम भी भारतीय है हमे…

228

कोरोना वायरस का ख’तरा इस क’दर बढ़ता जा रहा है. जिसकी वजह से आज लोग अपने घरो से निकलने में भी कत’रा रहे है. हर किसी को सिर्फ एक ही ड’र है कही कोरोना वायरस न हो जाए. इसके लिए लोग अपनी तरफ से हर संभव को’शिश कर रहे है ताकि वो इस म’हामारी से बचे रहे और अपनों को भी बचा के रखे. कोरोना वायरस के बढ़ते खत’रे को देखते हुए सरकार ने भी क’ड़े कदम उठाये है. और जिन लोगो में कोरोना वायरस पॉ’जिटिव पाया गया है उनका इलाज किया जा रहा है.

वहीं कोरोना वायरस की वजह से जहा जनजीवन तो अ’स्त व्य’स्त हुआ है. वहीं दूसरी तरफ इसकी वजह से कुछ लोगो को भी भेद’भाव की भावना का सामना करना पड़ रहा है और ऐसा ही मा’मला पंजाब के चिन्नी कला से सामने आया है. जहां नॉर्थ ईस्ट के कुछ स्टूडेंट रहते है और उनके साथ कोरोना वायरस की वजह से अब दु’र्व्य’वहार किया जा रहा है. उन पर अभ’द्र टि’प्पणी की जा रही है. जिसके बाद छात्रों ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि कैसे लोग हमे चिं’की, मो’मो , चाइ’निस कहकर हमारे ऊपर टिप्प’णी करते है और अब हमको कोरोना वायरस बोल कर नस्ल’भेद का व्य’वहार कर रहे है. क्युकी हमारा चेहरा थोडा सा अलग है लेकिन हम नॉर्थ ईस्ट के है और हम भी भारतीय है. चीन से नहीं है हम.

Stop calling us corona, chinki, Chinese….North East students of Punjab.#Govt_Of_India#say #No #to #Racism#Students #Northeast#India

Posted by Dimapur 24/7 -Instagram on Friday, March 13, 2020

गौरतलब है अक्सर नॉर्थ ईस्ट के लोगो को इस तरह की टि’प्पणी का सामना करते आये है. क्यूंकि उनका चेहरा सिर्फ थोडा सा बाकी भारतीयों से अलग है इस वजह से उनके साथ इस तरह से भे’दभाव किया जा है उन्हें भारत से अलग समझा जाता है. दरअसल कोरोना वायरस सबसे पहले चीन में ही फैला था जिसके बाद यह बीमारी पूरी दुनिया में फैल गयी है. जिसके कारण अभी तक कई लोगो की मौ’त हो चुकी है और कई इससे सं’क्रमित है.