कोरोना वायरस के मु’द्दे पर चीन की बड़ी मु’श्किले, भारत सहित 62 देश आये एक साथ

238

आज पूरा विश्व कोरोना वायरस नाम की महा’मारी से जूझ रहा है. जिसकी वजह से विश्व में कोरोना से संक्र’मित लोगो का आं’कड़ा 40 लाख के करीब पहुँच गया है. जिसकी वजह से आज विश्व स्त’र पर हा’लात काफी ना’जुक है. ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संग’ठन की वार्षि’क बैठक शुरू हो गयी है. जिसमें कोरोना महा’मारी को लेकर चर्चा की गयी और चर्चा होना भी ला’जमी है क्यूंकि इसकी वजह से कई लोगो की अभी तक मौ’त हो चुकी है.

वही दुनियाभर ने कोरोना के संक्र’मण को लेकर चीन पर आरो’प लगाये है. वही अब भारत की तरफ से भी इस पर अपनी प्र’तिक्रिया दी जाती दिखाई दे रही है. वही इससे पहले भारत की ओर से केंद्रीय परिवहन और सड़क निर्माण मंत्री नितिन गडकरी की तरफ से कहा गया था. कि यह कोई प्राकृ’तिक वायरस नहीं है. इसे लैब में तैयार किया गया है. जिसके बाद अब भारत ने WHO की बैठक के लिए ड्रा’फ्ट प्र’स्ताव के पर भारत ने उस जांच का समर्थ’न किया है जिसमें पता करना है कि कोरोना वायरस जानवरों से इं’सान में कैसे आया और विश्व स्वा’स्थ्य संग’ठन की इस महा’मारी को लेकर भूमिका कितनी निष्प’क्ष रही.

साथ ही कोरोना वायरस महा’मारी की जांच का 62 देशों ने सम’र्थन किया है जिसमें भारत के साथ बांग्लादेश, कनाडा, रूस, इंडोनेशिया, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूके और जापान भी शामिल हैं. जिससे अब चीन की मु’श्किले बढ़ सकती है. साथ ही जांच में यदि साबि’त होता है ये वायरस लैब में तैयार किया गया है. उससे चीन के लिए और ज्यादा परेश’नियाँ बढ़ जाएंगी.