वै’श्विक स्तर पर आ’लोचना सहने के बाद चीन ने कहा महामारी की उ’त्पत्ति जांच के लिए तैयार है हम

196

विश्व में कोरोना का क’हर बुरी तरह से फैल चुका है. जिसकी वजह से अमेरिका और अन्य देशों ने मिल कर चीन के खि’लाफ जं’ग छेड़ दी है. जिसकी वजह से चीन बुरी तरह से बौख’ला गया है. दरअसल दुनिया में सबसे पहले कोरोना वायरस का संक्र’मण चीन के वुहान शहर में फैला. जहाँ से धीरे धीरे आज पूरे विश्व में फैल चुका है. जिसके बाद ज्यादातर देशों ने चीन पर कोरोना का संक्रम’ण फ़ैलाने का आ’रोप लगाया  है.

जिसके बाद अब चीन इतनी ज्यादा आ’लोचना सहने के बाद कोरोना वायरस की उत्प’त्ति की जांच के लिए मान गया है. चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने बताया कि चीन कोरोना वायरस के पैदा होने संबंधी अंतर’राष्ट्रीय जांच के लिए खुला है, लेकिन यह जांच राजनीतिक हस्त’क्षेप से मुक्त होनी चाहिए. इसके साथ ही ये जांच नि’ष्पक्ष होनी चाहिए.

इसके अलावा उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर निशा’ना सा’धते हुए कहा कि अमेरिका द्वारा चीन पर कोरोना के संक्रम’ण को फ़ैलाने के कलं’कित आरो’प की सभी कोशिशे नाका’म हुई है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सभी देशों की सं’प्रभुता का सम्मान करें और अनुमान के आधार पर किसी को अप’राधी ठहराए जाने का विरो’ध करें.

दरअसल अमेरिका शुरू से ही चीन पर इसका आरो’प लगते हुए आया है. साथ ही WHO पर भी आरो’प लगते हुए डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि वो WHO को 30 दिन का समय दे रहे है. जिसके बाद वो WHO को की जाने वाली फं’डिंग पर स्था’ई रोक लगा सकते है. इससे पहले ट्रम्प में अ’स्थायी रूप से फं’डिंग पर रो’क लगा दी है.

जाहिर है कोरोना की जांच को लेकर वार्षि’क बैठक में अमेरिका सहित कई देशों ने इसकी जांच की मांग की थी. जिसके बाद से ही चीन के लिए परेशा’नी बढ़ गयी थी. जिससे चीन बौख’ला गया है.