कोरोना की वैक्सीन बनाने में जल्द मिल सकती है कामयाबी, इस महीने तक आ सकती है खुशखबरी

806

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते ख’तरे को देखते हुए दुनियाभर में वै’क्सीन बनाने के लिए लगातार कोशिश की जा रही है. इसके लिए अन्य देशों के साथ साथ भारत भी लगातार कोशिश कर रहा है. ताकि जल्द से जल्द कोरोना वैक्सीन बनाई जा सके. और इसका इलाज बेहतर तरीके से किया जा सके. दरअसल आज पूरा विश्व कोरोना से जं’ग ल’ड़ रहा है.

ऐसे में भारत सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के विजय राघवन ने राहत भरी खबर देते हुए कहा है कि कोविड-19 के लिए देश में वैक्सीन बनाने की प्रक्रि’या जोरों पर है. साथ ही इसी साल के अक्टूबर महीने तक कुछ कंपनियों को इसकी प्री क्लीनिकल स्टडीज तक पहुंचने में सफलता मिल सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि दुनियाभर में वैक्सीन बनाने के चार तरीके है और भारत में इन चारों तरीकों से वैक्सीन बनाने का काम किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि कुछ कंपनियां एक फ्लू वैक्सीन के बैकबोन में आरऐंडडी कर रहे हैं. कुछ फरवरी 2021 में प्रोटीन बनाकर वैक्सीन बनाने की प्रक्रि’या में जु’टे हैं. कुछ स्टार्टअप्स और कुछ अकैडमिक्स भी वैक्सीन बनाने की तैयारी कर रहे हैं. इसके अलावा विदेशी कंपनियों के साथ भी वैक्सीन बनाने में साझे’दारी निभा रहे हैं. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि आम तौर पर वैक्सीन तैयार होने में 10 से 15 वर्ष लगते हैं और खर्च पड़ता है 20 या 30 करोड़ डॉलर. अब हमारी कोशिश है कि 10 साल को घटा’कर एक साल में वैक्सीन डि’वेलप कर दें. जिसकी लाग’त बढ़कर 2 से 3 अरब डॉलर हो सकती है.

गौरतलब है यदि इसी तरह से काम करते रहे तो जल्द ही हमे वैक्सीन बनाने में सफलता हां’सिल होगी साथ ही कोरोना के संक्र’मण से जं’ग भी जीती जा सकेगी. जाहिर है कोरोना से अभी तक लाखों लोग संक्र’मित हो चुके है. जिसमें से सैक’ड़ों लोग अपनी जा’न तक गं’वा चुके है. ऐसे हा’लत में वैक्सीन का बनना बेहद जरुरी है.