कोरोना वायरस का क’हर पूरे विश्व में मचा हुआ है. आये दिन किसी की मौ’त की खबर सामने आ जाती है. बाकी देश की तुलना में भारत के अंदर कोरोना को क’हर अब देश के अंदर भी कोरोना को रोकने का लिए केंद्र की मोदी सरकार  ने कोरोना से लड़ने के लिए पूरी तरह से कमर कस ली है. कोरोना को लेकर आये दिन मोदी सरकार लोगो की मदद करने के लिए तत्पर रहती है. मोदी सरकार ने कोरोना से लड़ने के लिए डॉक्टर की कई टीमें तैयार की हैं.

वहीं राजधानी दिल्ली की बात करें तो वहां भी हा’लात को का’बू करने की पूरी कोशिश की जा रही है. दिल्ली से सटे नोएड़ा में भी कोरोना से संक्रमित कुछ लोग सामने यें हैं. कोरोना के खतरे के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई समेत 4 शहरों में लॉकडाउन का फैसला किया है. इस दौरान बहुत जरूरी सेवाएं ही चालू रहेंगी और सरकार ने कहा है कि जिसको बहुत जरूरी काम है वही लोग घर से बाहर निकलें. लेकिन मास्क और सैनेटाइजर साथ रखें. महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने सारे मॉल्स बंद करने का फैसला किया है. इसके साथ ही रेस्टोरेंट को भी बंद करने का ऐलान कर दिया है. कहा है कि सिर्फ ऑनलाइन लोग खाना मंगा सकेगें. इस बीच भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 200 के पार पहुंच गई है.

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र से एक अच्छी खबर है. स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना की चपेट में आने वाले शुरुआती मरीजों में से 5 की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है. इन मरीजों को जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल सकती है. शुक्रवार की सुबह राज्य स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि राज्य भर में कोरोना की चपेट में आये तमाम मरीजों में से 5 की रिपोर्ट निगेटिव आई है. इन 5 मरीजों की 24 घंटे की अंतराल पर दोनों रिपोर्ट निगेटिव आई है.

कोरोना को दिखते हुए सीएम उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन करने का ऐलान कर दिया है. लेकिन उन्होने कहा कि अगर बसें और स्थानीय दुकाने बंद हो जाती हैं, तो आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले लोग हमारे पास कैसे पहुंचेंगे? अभी के लिए हम बसों और ट्रेनों को बंद नहीं कर रहे हैं. सरकारी कार्यालयों को पूरी तरह से बंद नहीं किया जाएगा, लेकिन यहां 25 फीसदी उपस्थिति ही रहेगी.

इन सब हालातो को देखते हुए लोगो को खुद अपना ध्यान रखना बहुत जरूरी है. जो लोग बाहर से आते हैं और उनको लगता है कि कोरोना के लक्ष’ण नज़र आ रहे है तो वो लोग अपनी जां’च करवायें और अपने को बाकी लोगो से अलग कर लें ताकी दूसरे लोगो तक कोरोना का वायरस ना पहुंच सके.