क्या आप जानते हैं कि कोरोना के एक मरीज पर कितना पैसा खर्च होता है? जान लीजिये

कोरोना ने इस समय पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है. हर दिन हजारों की संख्या में ही लोग इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं और सैंकड़ों की संख्या में लोगों की हर दिन जान जा रही है. भारत में अब कोरोना के मरीजों का आंकड़ा 21 हजार के पार हो गया है. अमेरिका में तो एक ही दिन में 2 हजार से ज्यादा लोगों अपनी जान दे रहे हैं और इस बीमारी से 6 लाख से भी ज्यादा लोग संक्रमित हैं. वहीँ भारत में भी अब कोरोना महामारी का रूप धारण करता जा रहा है.

जानकारी के लिए बता दें देश के 80 फीसदी से ज्यादा कोरोना के मरीज का इलाज सरकारी अस्पतालों में चल रहा है. क्या आपने सोचा है कि एक मरीज के इलाज पर कितना पैसा खर्चा हो रहा है ? नही न चलिए हम आपको बताते हैं. कोरोना का कुछ प्राइवेट अस्पताल भी इलाज कर रहे हैं लेकिन वहां वही लोग जा रहे हैं जिनके पास पैसा है और आर्थिक रूप से मजबूत हैं या फिर सरकार उन्हें खुद वहां भेज रही है.

आपने सोचा भी नही होगा कि कोरोना के इलाज पर मोटा-मोटा कितना खर्चा होता होगा. जी हाँ पैसा चाहे सरकार दे रही हो या मरीज खुद दे रहा हो लेकिन सि बीमारी में कितना खर्चा बैठता है चलिए बताते हैं.कोरोना के इलाज पर कितना खर्चा आयेगा ये कई बातों पर निर्भर करता है. ये उसके शरीर में वायरस कितने गहरे तक फैला है उसपर आधारित होगा. उसे दूसरी क्या बीमारी हैं और उसकी उम्र क्या है.

गौरतलब है कि तिरुवंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल के एक सीनियर डॉक्टर के अनुसार बताया गया है कि एक सामान्य मरीज के इलाज पर औसतन 20 से 25 हजार रूपये हर दिन का खर्चा बैठता है. अगर उसके इलाज में वेंटिलेटर या किसी जीवनरक्षक उपकरण का इस्तेमाल होता है तो इसका मतलब ये हुआ कि 14 दिन के इलाज में एक मरीज पर 2 लाख 80 हजार से 3 लाख 50 हजार रूपये तक का खर्चा आ जाता है. आम तौर पर कोरोना के मरीज को अस्पताल से छुट्टी तब दी जाती है जब उसके 3-5 कोरोना टेस्ट निगेटिव आ जाते हैं.