इन 2 बड़ी यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों ने किया बड़ा दावा, भारत का यही हाल रहा तो जुलाई में होंगे इतने लाख मरीज

देश में कोरोना का कहर लगातार हर दिन बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की तरफ से की जा रही तमाम कोशिशों के बावजूद भी अब हर दिन मरीज एक नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. आपको भी जानकर हैरानी होगी कि भारत में पिछले 24 घंटे में 6877 मरीज बढ़ने के बाद कुल मरीजों की संख्या 1 लाख 40 हजार के करीब पहुंच गयी है.

जानकारी के लिए बता दें जहाँ एक तरफ बहुत तेजी से भारत में मरीज बढ़ रहे हैं वहीँ दूसरी ओर सरकार जनता को एक के बाद एक राहत देते हुए ढील दे रही है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि अगर यही हाल रहा तो आने वाले समय में भारत में क्या होगा? इस सवाल का जवाब देते हुए यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन और जोन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी ने बड़ी चेतावनी देते हुए भारत को आगाह किया है.

इन दोनों यूनिवर्सिटी ने कहा है कि अगर यही हाल रहा तो भारत में 21 लाख लोग जुलाई अंत तक पहुंच जायेंगे. इतना ही नहीं यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिशिगन पहले ही ये दावा कर चुकी थी कि मई में ही भारत में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख से ज्यादा पहुंच जायेगी.

गौरतलब है कि मिशिगन यूनिवर्सिटी के बॉयोस्टैटिस्टिक्स और महामारी रोग विशेषज्ञ प्रोफेसर भ्रमर मुखर्जी ने एक मॉडल तैयार कर जानकारी देते हुए कहा था कि भारत में स्थिति और भी गंभीर हो सकती है. उन्होंने कहा है कि भारत में अभी संक्रमण बढ़ना अभी कम नही हुआ है. उन्होंने कहा है कि भारत में संक्रमण के मामले अब 13 दिन में दोगुने हो रहे हैं. उनका मानना है कि सरकार का लॉकडाउन से जुड़ी पाबंदियों में ढील देना भारत की और मुश्किलें बढ़ा सकता है.