मध्य प्रदेश में कांग्रेस की बैठक में बांटी गई सावरकर पर वि’वा’दित किताब, लिखी है आप’त्तिज’नक बातें

878

स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर को लेकर देश की राजनीति दो धड़ों में बंटी हुई है और अक्सर उनको लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच विवाद की स्थिति बनी रहती है. इस बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस सेवादल की बैठक में वीर सावरकर के बारे में कुछ ऐसी बातें हुई जिससे फिर विवाद खड़ा हो गया है.

भोपाल में कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में सावरकर पर विवा’दित साहित्य बांटा गया है. इस साहित्य में सावरकर के बारे में बहुत ही आपत्तिजनक बातें लिखी हुई हैं. जिसपर भाजपा भड़क गई है.

दरअसल सेवा दल की बैठक में जो किताब बांटी गई है उसका नाम है ‘वीर सावरकर कितने वीर?’ इस किताब में सावरकर के बारे में कई आपत्तिजनक और विवादित बातें लिखी गई है. इस किताब में लिखा गया है कि सावरकर अल्पसंख्यक महिलाओं से ब’ला’त्कार करने के लिए लोगों को उकसाते थे. साथ ही ये भी लिखा है कि सावरकार जब 12 साल के थे तब उन्होंने म’स्जि’द पर पत्थर फेंके थे और वहां की टाइल्स तोड़ दी थी. इस किताब में सावरकर और नाथू राम गोडसे के आपसी सम्बन्धी के बारे में भी काफी विवादित बातें लिखी गई है.

इस किताब के सामने आने के बाद भाजपा भड़क गई. बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि ‘कांग्रेस सिर्फ सोनिया गांधी के हाथों की कठपुतली बनकर रह गयी है इसलिए ऐसी बातें करती है. उन्होंने कहा कि देश में कश्मीर, अयोध्या और ट्रिपल तलाक पर इतने बड़े फैसले हुए लेकिन एक दं’गा नहीं हुआ इसलिए कांग्रेस बेचैन है और मुस्लिम वोटों को हासिल करने के लीये जानबूझ कर सावरकर का अपमान करती है. उन्होंने ये भी कहा कि ”महिलाओं को तंदूर में ज’ला’ने वाली कांग्रेस से उम्मीद भी और क्या की जा सकती है’.