वि’पक्ष ने उठाये सवाल तो पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कही ये बड़ी बात

1050

पूर्व चीफ ज’स्टिस रंजन गोगोई के बारे में शायद ही ऐसा कोई होगा जो नहीं जानता होगा. रंजन गोगोई ने अपने कार्यकाल में कई फै’सले लिए. लेकिन उन्होंने सबसे बड़ा ऐ’तिहासिक फै’सला कार्यकाल ख’त्म होने से पहले लिया था. रंजन गोगोई ने 551 साल पुराने राम मंदिर पर ऐ’तिहासिक फै’सला दिया था. यह फै’सला 5 जजों की बेंच में लिया गया था. जिसके बाद बीजेपी ने भी इसकी सराहना की थी. और अब उनको राष्ट्रपति के द्वारा राज्यसभा के लिए चुना गया है.

पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नॉ’मिनेट करने के बाद अब वि’पक्षी द’लों ने इस मा’मले में केंद्र सरकार पर नि’शाना साधा है. जिसकी वजह से वि’वाद बढ़ गया है. दरअसल पूर्व जस्टिस गोगोई को उनके कार्यकाल में लिए गए ऐ’तिहासिक फै’सलों को देखते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद ने राज्यसभा के लिए चुना है. जिसके बाद वि’वाद बढ़ गया. जिसके बाद अभी तक गोगोई ने अपनी कोई प्रति’क्रिया मीडिया को नहीं दी है . लेकिन उन्होंने सिर्फ इतना जरुर कहा कि मैं शायद कल दिल्‍ली जाऊंगा. पहले मुझे शपथ लेने दीजिए फिर मैं वि’स्‍तार से मीडिया से बात करूंगा कि मैं क्‍यों राज्‍यसभा जा रहा हूं.

बता दें राष्ट्रपति द्वारा लिए गए इस फैस’ले पर कांग्रेस के कई नेताओ ने इस पर सवाल उठाये है. जिसमें कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने ट्वीट करते हुए कहा कि पोस्‍ट रिटायरमेंट जॉब के चक्‍कर में न्‍यायपालिका की स्‍वतं’त्रता प्र’भावित हो रही है. इसे के साथ उन्होंने बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और दिवं’गत नेता अरुण जेटली को टैग करते हुए बीजेपी पर नि’शाना साधा है.

गौरतलब है पूर्व चीफ जस्टि’स रंजन गोगोई ने अपने कार्यकाल में कई बड़े फैस’ले लिए है. जिसके चलते अब उनको राष्ट्रपति के द्वारा राज्यसभा के लिए चुना गया है. जिस वजह से वि’पक्ष केंद्र सरकार पर नि’शाना साधने की कोशिश कर रहा है.