थम्बनेल-मोदी सरकार पर हमला बोलने के चक्कर में बुरी फंसी कांग्रेस,सुननी पड़ी गालियां

थम्बनेल-मोदी सरकार पर हमला बोलने के चक्कर में बुरी फंसी कांग्रेस,सुननी पड़ी गालियाँ

यार कितनी बार कहूँ की कांग्रेस के सितारे आजकल गर्दिश में है। गर्दिश में भी ऐसे वैसे नही बल्कि जबर वाले। कभी राफेल पर उल्टे फँस जाते है तो कभी मोदी साहब पर हमला बोलने के चक्कर मे जुबां फिसल जाती है। कांग्रेस के मुखिया राहुल गांधी की  इमेज तो ऐसी बन गई है की अगर उनपर कुछ लिख या बोल दिया जाए तो लाफिंग वाले रियेक्शन दबाके मिलते है। अभी राहुल की भोपाल रैली में तो भीड़ ही नही आई थी,बाद में बेज्जती के डर से कांग्रेसियों को कुर्सियां तक हटानी पड गई थी। इसको लेकर भी कांग्रेस का खूब मज़ाक बना था। ख़ैर, अब एक घटना और ऐसी हुई है जिसने कांग्रेस की फजीहत करा दी है। फ़जीहतकी वजह बना कांग्रेस का वो पोस्ट जो उसने अपने फ़ेसबुक पेज से पोस्ट किया हैं। 

भारत की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत को लेकर की गई 
इस पोस्ट में कांग्रेस की तरफ से दो वीडियो पोस्ट करते हुए कहा गया है कि मिस्टर घोटाला उर्फ पीयूष गोयल ने झूठ बोला और दोगुनी स्पीड बताकर उसको 4 गुना स्पीड में कर दिया है।  ये टेक्निकल भाषा नही समझे ?? ह्म्म्म,चलो थोड़ा सिंपल करके बताए दिए देते है।  कांग्रेस अपनी इस पोस्ट में कह रही है कि रेल मंत्री पीयूष गोयल घोटालेबाज है उन्होंने अपना भौकाल टाइट करने के लिए इस ट्रेन को एडिटिंग के कमाल से उतनी स्पीड में दौड़ाकर दिखा दिया है जितना वो भागती नही है। सबूत के लिए बाकायदा कांग्रेस ने ओरिजनल बताकर एक वीडियो भी इसी पोस्ट में लगाया है। अब हमें नही पता कि पीयूष गोयल झूठे है या कांग्रेस ही झूठ बोलके अपने नंबर बढ़ा रही।  हम तो बस इतना जानते है कि इधर कांग्रेस ने ये पोस्ट फ़ेसबुक पर डाली और उधर लोग हो गए चालू,कांग्रेस को जमकर गरियाया। जितना सुना सकते थे खूब सुनाया। 


सुभजित दास नाम के यूजर कह रहे है कि मुझे तो लगता है कि कांग्रेस ने ओरिजनल बताई वीडियो को ही 2 गुना स्लो कर दिया है। चंदन कुमार लिखते है कि- कम से कम वो जनता को ना लूटते हुए कुछ तो कर ही रहे है।


भंवर लाल विश्नोई लिखते है कि तुम अपने शासन काल की ट्रेन का कोई वीडियो पोस्ट कर दो,जो इंडिया में बनी हो और इससे फ़ास्ट हो। वरना अपना मुँह बन्द रखो।

अभिषेक गिरी कह रहे है कि मिस्टर गोयल ने जो काम पिछले चार सालों में किया है कांग्रेस तो 70 सालो में भी उसकी कल्पना नही कर सकती।


शशि रंजन कह रहे है कि क्या आप ये कहना चाहते हो कि ये ट्रैन 180 किलोमीटर की स्पीड से नही दौड़ सकती??


डिबिन राज ने कमेंट किया कि कम से कम से ये सरकार रेलवे में कुछ बदलाव तो ला रही है। कांग्रेस इसलिए जल रही है क्योकि 60 साल राज करने के बावजूद भी उसने ऐसी कोई उपलब्धि हासिल नही की।


इसके अलावा बहुत लोग ने कमेंट किये जिनमे कांग्रेस की खूब क्लास लगाई गई।कुछ कमेंट तो इतने गंदे थे कि जिम्मेदार मीडिया संस्थान होने के चलते हम उन्हें दिखाना या सुनाना जरूरी नही समझते।

चलो मान भी लिया जाए कि रेल मंत्री ने एडिटिंग की कराई है तो क्या हो गया ?? क्या पता सिर्फ ट्रैन को बहुत तेज़ी से चलती दिखाने के लिए सांकेतिक रूप से एडिटिंग कराई गई हो। जैसे राहुल को पीएम पद का दावेदार दिखाने के लिए कांग्रेस उनके बारे में ढेरो अच्छी अच्छी बातें दिखा रही है। ठीक वैसे ही ट्रेन की तेज़ी दिखाने के लिए पीयूष गोयल भी उसकी स्पीड को बढ़ती हुई दिखा सकते है। हमारे समझ मे ये नही आता कि  क्या इससे ट्रैन के 180 किलोमीटर प्रति घण्टे चलने की सच्चाई झूठी साबित हो जाएंगी ?? 
क्या संकेतो का प्रयोग करना कोई जुर्म है ??
क्या इससे देश को कुछ नुकसान हो जाएगा ??

कांग्रेस को समझना होगा कि ऐसी वीडियो डालने से उसको लाभ नही होगा बल्कि सत्ता पक्ष को बेनकाब करने के लिए उसे धरातल पर पक्के सबूतों के साथ उतरना ही पड़ेगा वरना जनता जो आज कर रही है वो कल भी कर सकती है ।

Related Articles

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here