चुनाव से पहले आयकर विभाग के छापेमारी में कांग्रेस नेताओं पर कसता शिकंजा

312

मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग यानि आईटी का छापा पड़ा है..और अब इस छापे की आंच कांग्रेस के कद्दावर नेता और सोनिया गांधी के करीबी माने जाने वाले अहमद पटेल तक जा पहुंची है..अहमद पटेल पर हवाला के जरिए पार्टी फंड के लिए बीस करोड़ रुपए जुटाने का आरोप है..

आयकर विभाग ने सोमवार को कहा कि उसे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों के घर रेड मारने के दौरान एक संगठित रैकेट का पता चला है जिसके पास से 281 करोड़ रुपये की संपत्ति बरामद हुई है। आयकर विभाग ने यह भी जानकारी दी कि उसे मध्यप्रदेश और दिल्ली के बीच हवाला के जरिये 20 करोड़ रुपये भेजने का भी पता चला है..आयकर विभाग ने अपने बयान में कहा, ‘कैश का कुछ हिस्सा दिल्ली में मौजूद एक बड़े राजनीतिक दल के दफ्तर में ट्रांसफर हुआ था, जिसमें शामिल 20 करोड़ रुपये हवाला के जरिए पार्टी के एक बड़े नेता को दिए गए, जिनका निवास तुगलक रोड में है।’ जब बात आगे बढ़ी तो पता लगा कि ये पैसे दिल्ली कांग्रेस दफ्तर में रिसीव किए गए हैं..

इसी कड़ी में सोमवार की शाम आयकर विभाग ने दिल्ली में कांग्रेस दफ्तर के मुख्य अकाउंटेंट एसएम मोइन के घर छापा मारा। आयकर विभाग का कहना था कि मध्यप्रदेश से हवाला के जरिये एसएम मोइन को ही 20 करोड़ रुपये भेजे गए थे। एसएम मोइन के घर छापेमारी में विभाग को 14.6 करोड़ की नकदी बरामद भी हो गयी है। इसके अलावा विभाग को 250 शराब की बोतलें और कुछ हथियार भी मिले हैं। सीबीडीटी ने इस मामले पर अपने बयान में कहा, “नकदी का एक हिस्सा दिल्ली में बड़े राजनीतिक दल के मुख्यालय तक भेजा गया है, जिसमें वह 20 करोड़ रुपये भी शामिल हैं जो हाल में हवाला के जरिए दिल्ली के तुगलक रोड पर रहने वाले वरिष्ठ पदाधिकारी के घर से राजनीतिक दल के मुख्यालय पहुंचाए गए।”

हालांकि इस पूरे मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के करीबी अहमद पटेल भी विवादों में घिरते नज़र आ रहे हैं। दरअसल, छापेमारी के दौरान खुद अहमद पटेल एसएम मोइन के घर पहुंच गए। उनकी सोशल मीडिया पर कुछ फोटो भी वायरल हो रही है जिसमें अहमद पटेल अकाउंटेंट एसएम मोइन के साथ बैठे दिखाई दे रहे हैं। हालांकि, इस फोटो को लेकर अभी तक आयकर विभाग ने कोई पुष्टि नहीं की है। इसकी जांच चल रही है..

उनकी इस फोटो के सामने आने के बाद अब यह कयास लगाये जा रहे हैं..कि अहमद पटेल का भी इस पूरे मामले से अप्रत्यक्ष रूप से कोई लेनदेन हो सकता है..आपको बता दें कि अहमद पटेल का नाम ऑगस्टा वेस्टलैंड घोटाले में भी सामने आया था, जिसको लेकर जांच एजेंसी अभी अपनी जांच कर रही है..
बता दें कि अहमद पटेल कांग्रेस के बहुत करीबी माने जाते है..अहमद पटेल सोनिया गांधी के सलाहकार भी रह चुके है..

हालांकि अहमद पटेल के करीबी सूत्रों का कहना है कि मोइन जब सोमवार को दफ्तर नही आया और उसके बारे में पता चला कि वो बीमार है तो अहमद पटेल सोमवार की देर शाम उसे देखने आए थे. उन्हें किसी ने रोका नहीं और ना ही उन्हें किसी मामले की जानकारी थी. उन्होंने बीमार के हालचाल लिए और 10 मिनट बाद वहां से निकल गए.

आय़कर सूत्रों के मुताबिक ये मामला केवल हवाला के 20 करोड़ रुपये तक सीमित नहीं है और इस मामले के तार एक बड़ी राजनीतिक पार्टी के बड़े नेताओ से भी जुड़े हो सकते हैं. ऐसे ही एक नेता का घर तुगलक रोड पर भी है और मोइन से पूछताछ के बाद इन नेताओं को भी पूछताछ के लिए तलब किया जा सकता है.