आतंकियों को इज्जत बख्शते देखे गये कांग्रेस मुखिया राहुल गाँधी

276

अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले कांग्रेस मुखिया राहुल गांधी एक बार फिर से मुसीबत में फंसते दिखाई दे रहें हैं।

दरअसल कांग्रेस के बूथ अध्यक्षों के कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को इज्जत बख्शते हुए कहा है कि ये 56 इंच वाले,छाती वाले। आपको याद होगा कि जब इनकी पिछली सरकार थी तो एयरक्राफ्ट में मसूद अजहर जी के साथ बैठकर जो आज के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार है अजीत डोभाल,मसूद अजहर को जाकर कंधार में हवाले करके आ गए थे। पुलवामा में अगर बम ब्लास्ट हुआ,इसको जरूर पाकिस्तान के लोगो ने,जैश ए मोहम्मद ने करवाया,मगर मसूद अजहर को बीजेपी ने छोड़ा। कांग्रेस के दो प्रधानमंत्री शहीद हो गए लेकिन हम किसी के सामने नही झुके।


यूँ तो राहुल गांधी अपना भौकाल टाइट करने के लिए ऐसा बोले थे लेकिन उनका दांव उल्टा पड़ा और बयान के बाद एक बार फिर से कांग्रेस की थू थू होनी शुरू हो गई है।

वैसे ये इस तरह का पहला मामला नही है बल्कि इससे पहले भी कांग्रेस के कई नेता आतंकियों को इज्जत देते देखे गए है। 
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह भी एक बार आतंकी हाफिज सईद को साहब कहकर रिस्पेक्ट मोड में आ चुके हैं।


मतलब हमारे तो ये बात समझ में नही आती की चुनाव एकदम सिर पर है और काँग्रेस वाले आतंकियों को इज्जत बख्शने में ही अपना समय क्यों गंवा रहें हैं। हमे तो डर है कि कही राहुल की यही गलती चुनावी मौसम में उनपर भारी ना पड़ जाए।फिलहाल का आलम ये है कि राहुल के इस बयान पर बीजेपी ने उनकी अच्छे से क्लास लगानी शुरू कर दी है अब देखते है कि राहुल को उनका ये बयान कितना भारी पड़ता है।