जाले सीट से मशकूर उस्मानी को टिकट देना कांग्रेस के लिए बना गले की फांस, जमकर हो रही है फ़जीहत !

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियां जोरों से चल रही हैं. इस चुनाव में धीरे धीरे ऐसे मुद्दों की एंट्री होती जा रही है जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नही होगा. अब इस चुनाव में आतंकवाद, राष्ट्रवाद और माओवाद के बाद अब मोहम्मद अली जिन्ना की भी एंट्री हो गयी है.

जानकारी के लिए बता दें बिहार में चुनाव कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. पहले सीटों के बंटवारे को लेकर काफी फ़जीहत हुई थी और अब टिकटों के बंटवारे को लेकर फ़जीहत हो रही है. बिहार चुनाव में जिन्ना की एंट्री होने के पीछे की वजह ये है कि कांग्रेस ने जाले विधानसभा सीट से मशकूर उस्मानी को टिकट दे दिया है, जिसके बाद से पार्टी की जमकर फजीहत हो रही है.

कांग्रेस को दरभंगा की जाले सीट गले की फ़ांस बनती जा रही है. यहाँ से उम्मीदवार मशकूर अहमद उस्मानी को टिकट मिलने के बाद विवाद इतना बढ़ गया है कि कांग्रेस के दिग्गज नेता सफाई देते देते परेशान हो गये हैं. कांग्रेस पार्टी को अब इस बात का डर सता रहा है कि कहीं जिन्ना का मुद्दा उसे एक उम्मीदवार ही नही बल्कि पूरी पार्टी को नुकसान न पहुंचा दें.

गौरतलब है कि साल 2019 में उस्मानी पर राष्ट्रविरोधी नारे लगाने के चलते राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था. जिसके बाद अब उसे कांग्रेस ने टिकट दी है तो सवाल उठ रहे हैं कि जिन्ना के समर्थक को टिकट क्यों दिया गया? वहीँ अब इन सवालों के बाद कांग्रेस सफाई देते देते परेशान हो गयी है. शनिवार को कांग्रेस के महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने मशकूर पर सफाई देते हुए कहा है कि उन्होंने कभी जिन्ना की विचारधारा का समर्थन नही किया है. इसी के साथ केंद्रीय मंत्री गिर्राज सिंह ने भी उस्मानी को लेकर राजद और कांग्रेस को घेरा है. उन्होंने कहा है कि राजद और कांग्रेस के साथ साथ महागठबंधन के तमाम साथियों को देश को ये बताना होगा कि क्या वो जिन्ना के साथ हैं? क्या वो देश तोड़ने वालों के साथ हैं? इस तरह से कांग्रेस की चुनाव से पहले बड़ी फ़जीहत हो रही है.

वीडियो: Bihar Election : PM Modi के बारे में क्या सोचते हैं Bihar के लोग ?