सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस और राजद में बढ़ सकता है विवाद और फिर कांग्रेस उठा सकती है ये बड़ा कदम !

59

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राजद की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. एक के बाद एक बड़ा झटका पार्टी को लग रहा है. अब तक कई बड़े नेताओं ने पार्टी का साथ छोड़ दिया है तो कई ने जेडीयू का दामन थामकर बड़ा झटका दिया है.

जानकारी के लिए बता दें बिहार में वहीं दूसरी महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर सुलह नही हो रही है, जिसके चलते कांग्रेस और राजद में तकरार बढ़ती जा रही है. पहले फेज के नॉमिनेशन में एक दिन ही बचा है और इनकी शीट क्षेयर नही हो सकी हैं. कुछ कांग्रेसी नेता 70 सीट से कम पर तैयार नही हो रहे हैं तो कुछ 65 सीट के लिए आलाकमान को समझौता करने की सलाह दे रहे हैं.

राजद ने कांग्रेस को दो टूक कहते हुए 58 सीटें देने की बात कही है और कहा है कि इस फैसले को अंतिम निर्णय माना जाए. वहीं कांग्रेस के कुछ नेताओं को तेजस्वी पर भरोसा नही है यही वजह है जो अभी तक इन लोगों में सीट शेयरिंग को लेकर खाई बढ़ती जा रही है.

गौरतलब है कि बुधवार को कांग्रेस की दिल्ली में हाई लेवल की मीटिंग भी हुई है जिसमें प्लान बी पर चर्चा हुई हो. इस मीटिंग का उद्देश्य चिराग पासवान और पप्पू यादव से बात करना भी बताया जा रहा है. वहीं कुछ लोगों का ये भी मानना है कि कांग्रेस के लीडरशिप में थर्ड फ्रंट बन सकता है. जिसमें लेफ्ट के साथ RLSP और बीएसपी शामिल होकर राजद को बड़ा झटका दे सकते हैं.