कॉमेडियन मुनव्वर की गिरफ़्तारी पर लिबरल गैंग ने रोया असहिष्णुता का रोना, लोग बोले ‘किसी और धर्म का मज़ाक बना कर देखो फिर…’

169

हिन्दू देवी देवताओं का मज़ाक उड़ाने वाले कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को कोर्ट ने 10 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया. उसके बाद ट्विटर पर लिबरल गैंग अपने बिलों से बाहर निकल आया और असहिष्णुता का रोना रोने लगा. जब इस्लामिक कट्टरपंथी यूरोप के देशों में तांडव कर रहे थे तब ये लिबरल गैंग के सदस्य अपने अपने बिलों में दुबक गए थे. लेकिन जैसे ही मुनव्वर और उसके जैसे कॉमेडियनों पर हिन्दुओं की भावना आहत करने पर कारवाई की जाती है लिबरल गैंग बिलों से बाहर निकल आता है. लिबरल गैंग की नज़रों में अभिव्यक्ति की आज़ादी बस धर्म विशेष के लोगों के लिए ही है. ट्विटर पर मुनव्वर फारुकी ट्रेंड करने लगा और लोगों ने लिबरल गैंग को मुंहतोड़ जवाब दिया.

मुनव्वर फारुकी के सपोर्ट में वरुण ग्रोवर, वीर दास और रोहन जोशी सहित कई स्टैंडअप कॉमेडियन सामने आ गए. वीर दास ने ट्वीट कर कहा ‘आप चुटकुलों और हास्य को नहीं रोक सकते. इसलिए नहीं कि कॉमेडियन इसे पेश कर रहे हैं, बल्कि लोगों को हास्य की जरुरत है. आप जितनी भी कोशिश करेंगे, आप पर उतना ही ज्यादा लोग हंसेंगे.

खुद को स्टैंडअप कहने वाले वीर दास जैसे लोग कॉमेडी और भौंडापन के बीच के अंतर को नहीं समझते. कॉमेडी तब तक ही कॉमेडी है जब तक वो मर्यादा में हो,मर्यादा पार करते ही वो बेहूदगी बन जाती है और अपने देवी देवताओं के बारे में कोई बेहूदगी क्यों बर्दास्त करे. इन कॉमेडियनों की इतनी हिम्मत तो होती नहीं किसी और धर्म और उनके देवता का मज़ाक बनायें. वो ऐसा कभी नहीं करेंगे क्योंकि वो जानते हैं ऐसा करने के बाद उन्हें जेल नहीं भेजा जाएगा बल्कि उनका सर धड़ से अलग कर दिया जाएगा. इन कॉमेडियनों की सारी कॉमेडी बस एक धर्म, उनके त्यौहार और उनके देवी देवताओं पर ही निकलती है. इन स्टैंडअप कॉमेडियनों ने कॉमेडी को प्रोपगैंडा फैलाने का जरिया बना लिया है.