उत्तरप्रदेश में बीजेपी की सरकार आने के बाद से ही सीएम योगी आदित्यनाथ अपने ताबड़तोड़ फ़ैसले को लेकर जाने जाते हैं. सत्ता में आने के बाद से ही उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए एक से बढ़कर एक बड़े कदम उठाये हैं जिसकी हर तरफ तारीफ भी हुई हैं, इतना ही नही योगी सरकार द्वारा उठाये गये क़दमों से सीख लेकर और भी सरकारों ने वैसे ही फ़ैसले लिए हैं.

जानकारी के लिए बता दें सीएम योगी ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हिं-सा फ़ै-लाने वाले लोगों के पोस्टर को चौ-राहे पर लगाकर जुर्माने की राशि के नोटिस जारी कर दिए थे. जिसके बाद लखनऊ में पोस्टर वॉर शुरू हो गया और कुछ कांग्रेसी नेताओं ने सीएम समेत कई बीजेपी नेताओं के पोस्टर लगा दिए. पोस्टर लगाने वाले कांग्रेस नेताओं पर बड़ी कार्रवाई हुई है. उन्होंने सोचा भी नहीं होगा ये करना उन्हें कितना भारी पड़ जायेगा.

सीएम योगी समेत कई बीजेपी के नेताओं के पोस्टर लगाने वाले दो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हजरतगंज कोतवाली के SHO ने इसकी पुष्टि भी की है. कांग्रेस कार्यकर्त्ता सुधांशु बाजपेई और लल्लू कनौजिया पर हजरत गंज इलाके में कई जगह पोस्टर लगाने का आरोप लगाया गया था जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है.

गौरतलब है कि इस पोस्टर में सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ भाजपा के कई नेताओं पर मुकदमे का जिक्र करते हुए लिखा था कि जनता मांगे जवाब, कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने इन पोस्टर को न सिर्फ भाजपा कार्यालय के गेट पर बल्कि सरकारी पोस्टरों के ऊपर भी चिपका दिया था, जिसके चलते इनके ऊपर बड़ी कार्रवाई की गयी है हालाँकि अभी तक ये नहीं बताया गया है कि किन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है.