केंद्र में बाद अब उत्तरप्रदेश सरकार ने ट्रेनें चलाने को लेकर किया ये ऐलान!

कोरोना के हर दिन बढ़ रहे प्रकोप के चलते पूरे देश मे पीएम मोदी ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला लिया था. लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए आगे बढ़ा दिया था. इसके बावजूद भी हालात नही सुध रहे जिसके बाद सरकार ने लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया है. लॉकडाउन बढ़ने के बाद भी मरीजों की संख्या का ग्राफ गिरने की बजाय हर दिन बढ़ और रहा है. भारत में मरीजों की संख्या में जबरदस्त इजाफा हो रहा है. अब भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 70 हजार के पार हो गयी है.

जानकारी के लिए बता दें केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा उठाये जा रहे क़दमों के बाद भी कोरोना का कहर थम नही रहा है. केंद्र सरकार ने अब कुछ ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दे दी है जिससे लोग अपने घरों तक पहुँच जाएँ. इसी बीच एक बड़ी खबर उत्तरप्रदेश से आ रही है. कोरोना संकट के बीच उत्तरप्रदेश सरकार ने भी बड़ा ऐलान किया है. इसम योगी अपने राज्य के लोगों को लेकर एक के बाद एक बड़े कदम उठा रहे हैं.

अब उत्तरप्रदेश सरकार से भी रेलगाड़ियाँ चलेंगी. यहाँ से चलने वाली ट्रेन ख़ास तौर पर प्रवासी मजदूरों के लिए होंगी जोकि झाँसी से चलाई जायेंगी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोगों से अपील की है कि वो ट्रेनें चलाने जा रहे हैं, इसीलिए मजदूरों को पैदल अपने घर जाने की जरुरत नही है. उन्होंने आग्रह किया है कि कोई भी सड़क के रास्ते घर गाँव न लौटे सरकार उनके लिए इंतजाम कर रही है ताकि सब अपने अपने घर पहुंच सकें.

गौरतलब है कि इस बात की जानकारी एडिशनल चीफ सेक्रेटरी होम अवनीश कुमार ने दी है. उन्होंने कहा है कि “मुख्यमंत्री का आदेश है कि कोई भी अपने गंतव्य के लिए पैदल नहीं जाएगा। अगर कोई बॉर्डर तक इस तरह पहुंचता है, तो संबंधित प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि वे उन लोगों के लिए बंदोबस्त करें। कुछ बसों की व्यवस्था की जा रही है, जबकि झांसी से स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी। ये गाड़ियां वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर सरीखे जिलों तक जाएंगी।” एक अधिकारी के अनुसार 3.25 लाख कर्मचारी पिछले चार दिनों में बसों से सफर कर यूपी पहुंचे हैं.