अब यूपी में जानबूझकर कोरोना फैलाना पड़ जायेगा बहुत महंगा, सीएम योगी ने बनाया नया कानून !

कोरोना से इस समय पूरा देश ही नहीं बल्कि दुनिया जूझ रही है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारें इस महामारी से निपटने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है और एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही हैं, जिससे लोगों को इस बीमारी से बचाया जा सके. सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी कोरोना का कहर थम नही रहा है. हर दिन कोरोना के मरीजों की संख्या बेशुमार बढ़ रही है जिसने सरकार की चिंता और बढ़ा दी है.

जानकारी के लिए बता दें उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना के चलते एक के बाद एक बड़े कदम उठा रहे हैं. उन्होंने अपने राज्य के मजदूर और गरीब लोगों को सबसे पहले खाते में सहायता राशि प्रदान की थी. वहीं अब उन्होंने कोरोना वारियर्स को लेकर नया कानून ही बना डाला है. दरअसल यूपी के साथ देश के अलग-अलग हिस्सों से ख्ब्र्रें आई थी कि कोरोना के मरीजों को लेने पहुंचने वाली टीम पर ही लोगों ने पथराव कर दिया या फिर गश्त दे रही पुलिस पर हमला कर दिया.

एक के बाद एक करके आई इन खबरों के बाद सीएम योगी ने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश तो दिए थे लेकिन अब उन्होंने अध्यादेश लाकर नया कानून ही बना डाला है. योगी सरकार ने 6 मई 2020 को जन स्वास्थ्य एवं महामारी नियंत्रण अध्यादेश 2020 को मंजूरी दे दी है. योगी सरकार के इस कानून में प्रावधान है कि अगर किसी व्यक्ति की मौत जानबूझकर कोरोना वायरस फैलाने के कारण हो जाती है तो जिम्मेदार व्यक्ति को ऐसी स्थिति में उम्र कैद की सजा तक का प्रावधान कर दिया है.

गौरतलब है कि योगी सरकार ने इसी के साथ इस कानून में कोरोना वारियर्स जैसे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी और पैरा मेडिकल स्टाफ के अभद्रता या उनके ऊपर थूकने या किसी अन्य हरकत के चलते भी सजा और जुर्माने का प्रावधान रखा गया है. योगी सरकार ने जानबूझकर कोरोना फ़ैलाने वाले लोगों को लेकर उम्र कैद तक की सजा का प्रावधान कर दिया. अध्यादेश की धारा 24 में कहा गया है कि अगर कोई भी व्यक्ति जानबूझकर किसी अन्य व्यक्ति को कोरोना बीमारी से संक्रमित करता है तो उसे 2-5 साल के कठोर कारावास की सजा हो सकती है. वहीँ इस कानून की धारा 25 के अंतर्गत पांच या अधिक व्यक्तियों को संक्रमित करने पर अगर किसी की मौत हो जाती तो संक्रमण फ़ैलाने पर व्यक्ति को उम्र कैद तक की सजा हो सकती है. इतना ही नही उसपर 3-5 लाख तक का जुर्माना भी लग सकता है.